खबर सुनते उड़ेंगे होश : भीख मांगने वाली बुजुर्ग महिला की झोपड़ी से मिले नोटों से भरे बक्से

जम्मू, हम सभी ने ये कहावत जरूर सुनी होगी कि किस्तम पलटते देर नहीं लगती. ये कहावत एक बुजुर्ग महिला पर सटीक बैठती है. दरअसल जम्मू के राजौरी से एक हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है. राजौरी के नौशेरा में भीख मांगकर गुजर-बसर करने वाली बुजुर्ग महिला की झोपड़ी से करीब 2,60,000 रुपये मिले हैं. दरअसल ये तब हुआ जब सड़क किनारे फटे-कटे तिरपाल और टूटी-फूटी लकडिय़ों से बनी झोंपड़ी को प्रशासन ने वहां से हटाया, तो अंदर नोटों की गड्डियां बरामद हुई |

एक रिपोर्ट के मुताबिक राजौरी के उप जिला नौशहरा के वार्ड नंबर नौ में घूम-घूमकर भीख मांगकर गुजारा करने वाली इस बुजुर्ग महिला की स्थानीय लोग मदद किया करते थे. कोई इसे पैसे देता तो कोई खाना और कपड़े बाकी जरूरत की चीजें. इस तरह से महिला अपना जीवन चला रही थी. जानकारी के अनुसार, राजौरी जिला प्रशासन ने इन दिनों सड़कों पर रहने वाले बेसहारा लोगों को सहारा देने का अभियान चला रखा है. इसमें ऐसे लोगों को शेलटर होम व वृद्ध आश्रम पहुंचाया जा रहा है |

इसी कड़ी में सोमवार देर शाम वृद्ध आश्रम राजौरी से कुछ लोग आए और इस बुजुर्ग महिला को भी अपने साथ ले गए. यहां के वार्ड मेंबर ने बताया, ”वे यहां पिछले 30 साल से रहती थीं. कल राजौरी से टीम आकर उनको वृद्धाश्रम ले गई. नगर पालिका की टीम को घर के कचरे में लिफाफों में नोट मिलने लगे.” इसके बाद मंगलवार सुबह जब नगर पालिका को सड़क किनारे बनी झोंपड़ी को हटाने को कहा गया. जिसके बाद नगर पालिका के कर्मचारी जब वहां सफाई करने लगे तो उन्हें झोंपड़ी से कुछ पैसे मिले |

कर्मचारियों ने जब घर को खंगाला तो उन्हें एक और पैसे से भरा डब्बा मिला. इसके बाद बिस्तर के नीचे से भी पैसे मिले, जो छोटे-छोटे लिफाफों में रखे गए थे. झोपड़ी से तीन क्रेट रुपए और एक बैग सिक्के निकले. अभी इन पैसों को सुरक्षित रखा दिया गया है. जब महिला बेहतर स्थिति में आएगी उसे ये सारे पैसे दे दिए जाएंगे. एक और जहां कुछ लोग ये खबर सुन के दंग रह गए. वहीं कुछ लोग अभी ये कह रहे हैं कि जिस महिला के पास इतने पैसे हों, पता नहीं वो इतनी तंगहाली में क्यों जी रही है |