भाई की शादी में शामिल होने पटना पहुंचे तेजप्रताप, मां राबड़ी देवी से की घंटों बातचीत

97

राजद प्रमुख लालू प्रसाद के बड़े पुत्र तेजप्रताप यादव रविवार को प्रदेश राजद कार्यालय पहुंचे। उन्होंने छात्र राजद के नेताओं के साथ बैठक की। इस दौरान तेजप्रताप ने कहा कि हमारी लड़ाई सीएम नीतीश कुमार से नहीं बल्कि आरएसएस और भाजपा से है।

ऐश्वर्या से तलाक का फैसला लेने के बाद तेजप्रताप यादव परिवार से दूर रह रहे हैं। लेकिन बीती रात तेजप्रताप अपने परिवार और रिश्तेदारों के बीच पटना में थे। दरअसल तेजप्रताप यादव अपने मौसेरे भाई की शादी में शामिल होने पटना पहुंचे। तेजप्रताप के मौसेरे भाई अरुण की शादी पटना के दरोगा राय पथ स्थित एक कम्युनिटी हाल में हुई मौसेरे भाई की शादी में पहुंचे तेजप्रताप की मुलाकात अरसे बाद अपनी मां राबड़ी देवी से हुई। हालांकि तेज इस शादी में राबड़ी देवी से पहले पहुंच गए थे, लेकिन बाद में पहुंची राबड़ी देवी सीधे बेटे तेज के पास पहुंची और उनके साथ घंटे भर से ज्यादा बैठी रहीं। माँ से इस मुलाकात के दौरान तेजप्रताप के चेहरे पर मुस्कान तो नहीं दिखी लेकिन वह राबड़ी देवी के हर सवालों पर कुछ ना कुछ बोलते दिखे। शादी की रस्म पूरी होते ही तेजप्रताप वहां से निकल गए। 

ऐश्वर्या से तलाक लेने का एलान करने के बाद तेजप्रताप यादव पटना से बाहर रह रहे हैं। रांची रिम्स में पिता लालू यादव से मुलाकात और पटना फैमिली कोर्ट में तलाक केस में हाजिर होते वक़्त तेजप्रताप ने मीडिया के सामने अपनी बात रखी थी। तेजप्रताप यादव ने अपने मौसेरे भाई को शादी की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि वह दुआ करेंगे कि अरुण का वैवाहिक जीवन उनकी तरह ना हो। तेजप्रताप ने अपने लिए सरकारी आवास की जरूरत को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से ध्यान देने कि अपील की। तेज ने कहा कि उन्हें बिहार में ही राजनीति करनी है और सरकार उन्हें एक सरकारी आवास तक मुहैया नहीं करा रही। आवास नहीं रहने की वजह से उन्हें मंदिर में रहना पड़ रहा है। तेजप्रताप ने कहा कि जनता सबकुछ देख रही है और सही वक्त आने पर वही जवाब देगी।