हमारे चहेते किरदार जिन्‍होंने हमें जादुई दुनिया का बनाया दीवाना

809

बच्‍चे हों या बड़े हममें से ज्‍यादातर लोग उन सारी चीजों की तरफ खिंचे चले जाते हैं, जिनमें जादू होता है। ऐसे कई चर्चित किरदार हैं, जिन्‍हें देखते हुए हम बड़े हुए हैं, जिन्‍होंने अपनी जादुई दुनिया से हमें प्‍यार करना सिखाया और उन्‍होंने यह चाहत जगायी कि हमारी जिंदगी में भी थोड़ा जादू हो। सोनी सब का ‘अलादीन: नाम तो सुना होगा’ सदियों पुरानी कल्‍पना की कहानी और हमारे बचपन के हीरो अलादीन की जिंदगी के बारे में बताने के लिये आया है। मनोरंजन से भरपूर इस शो ने दर्शकों को बगदाद की जादुई दुनिया की सैर कराते हुए उनके दिलों में एक खास जगह बनायी है।

 

जिस तरह ‘अलादीन: नाम तो सुना होगा’ शो अलादीन, जिनू और यास्‍मीन के साथ हमें रोमांच और रहस्‍य से भरी दुनिया में ले गये हैं, उसी तरह कुछ ऐसे खास किरदार भी हैं जो हमारी जिंदगी को पहले रोशन कर चुके हैं। आइये यादों के उस गलियारे में चलते हैं और उन सारे किरदारों को याद करते हैं, जिन्‍होंने अपनी जादुई दुनिया से हमें अपना दीवाना बनाया।

 

  1.  ‘अलादीन: नाम तो सुना होगाके अलादीन

प्राचीन काल्‍पनिक किरदारों में से एक को सामने लेकर आया, ‘अलादीन: नाम तो सुना होगा’। अलादीन एक 20 साल का लड़का है, उसकी जिंदगी अपने परिवार और यास्‍मीन (बगदाद की शहजादी) के लिये उसके प्‍यार के इर्द-गिर्द घूमती है। जादुई चिराग का आका अलादीन और उसमें रहने वाला शेख जिनू, हमें कुछ रोमांचक सफर पर लेकर गये हैं। अलादीन और जिनू की गहरी दोस्‍ती के साथ इस शो ने इसी तरह की सच्‍ची दोस्‍ती और बेशक, उस जादुई चिराग को देखने की चाहत और बढ़ा दी है।

 

  1. बालवीरके बालवीर

सात परियों से जादुई शक्तियां मिलना ऐसा है जिसका ख्‍वाब हर बच्‍चा देख सकता है। ‘बालवीर’ दर्शकों के लिये छोटे बच्‍चे की एक ऐसी दुनिया लेकर आया, जोकि शैतानी शक्तियों से परीलोक और दूसरे बच्‍चों की रक्षा करता है। वह उन बच्‍चों से हमें सच्‍चाई की राह पर चलने को कहता है! यह सच है ना कि हम सब भी बालवीर की तरह ही साहसी और शक्तिशाली होना चाहते हैं।

 

  1. सोनपरीकी सोनपरी

‘सोनपरी’ भारतीय बच्‍चों की काल्‍पनिक रोमांचक टेलीविजन सीरीज है। यह हर बच्‍चे की चाहत थी कि सोनपरी जैसी परी और अल्‍टू जैसा दोस्‍त मिले, जिनके साथ इतने मजेदार एडवेंचर करने का मौका मिले। यह शो एक लड़की फ्रूटी की कहानी है, जिसे सोनपरी और अल्‍टू को आजाद कराने के लिये उनका आशीर्वाद और यह दोस्‍ती मिली थी।

 

  1. जिनी और जूजूकी जिनी

अंग्रेजी सिटकॉम के इस भारतीय रूपांतरण ने जिनी की प्‍यारी जादुई गड़बडि़यों से हमारा मनोरंजन किया था जोकि अक्‍सर जूजू को परेशानी में डाल देता था। यह जिनी और जूजू की प्रेम कहानी थी, लेकिन जिनी की नामसमझी अक्‍सर दर्शकों के चेहरे पर मुस्‍कुराहट ले आती थी। और वे शो की तरफ खिंचे चले आते थे।

 

तो फिर इस जादुई जोश को इसी तरह बनाये रखने के लिये, देखिये सोनी सब का ‘अलादीन:नाम तो सुना होगा, हर सोमवार से शु्क्रवार, रात 9 बजे। और शामिल हो जाइये अलादीन और जिनू के साथ बगदाद के इस रोमांचक सफर में।