‘प्याज’ फिर रूलायेगा, चेन्नई खुदरा 73 रुपये प्रति किग्रा पहुंचा, आगामी हफ्तों में तेजी आने की संभावना

नई दिल्ली, पीटीआइ। चेन्नई में प्याज की खुदरा कीमत मंगलवार को 73 रुपये प्रति किलोग्राम तक पहुंच गई। किसी भी महानगर में मंगलवार को प्याज की यह सबसे ऊंची कीमत रही। प्याज उत्पादन वाले क्षेत्रों में बारिश से आपूर्ति में पैदा हुई दिक्कतों से प्याज के भाव में यह बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है। उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों में कहा गया है। इन आंकड़ों के मुताबिक मंगलवार को दिल्ली में प्याज की कीमत 51 रुपये प्रति किलोग्राम पर रही। वहीं, कोलकाता में यह 65 रुपये प्रति किलोग्राम पर रही। मुंबई में एक किलोग्राम प्याज का भाव 67 रुपये पर रहा।

विशेषज्ञों और कारोबारियों का कहना है कि दक्षिणी और पश्चिमी क्षेत्रों में भारी बारिश से आपूर्ति बाधित हुई है और खरीफ फसलों की आवक प्रभावित हुई है। आगामी हफ्तों में इसमें तेजी आने की संभावना है।

उनका कहना है कि इस समय स्टोर किए गए प्याज और रबी के फसल की बिक्री बाजार में हो रही है। आम तौर पर इस समय प्याज की खपत वाले इलाकों में कीमतों पर दबाव देखने को मिलता है लेकिन बारिश की वजह से प्रमुख उत्पादन वाले क्षेत्र में समस्याएं पैदा हुई हैं और आपूर्ति से जुड़ी चिंताएं बढ़ी हैं।

मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक दक्षिण और पश्चिम जोन में प्याज की खुदरा कीमतों में तेज वृद्धि देखने को मिली है।

चेन्नई में प्याज की कीमत 73 रुपये प्रति किलोग्राम के स्तर तक पहुंच गई, जो पिछले साल की इसी अवधि में 33 रुपये प्रति किलोग्राम पर थी। मुंबई में प्याज का भाव पिछले साल के 56 रुपये प्रति किलोग्राम के मुकाबले इस साल 67 रुपये प्रति किलोग्राम के स्तर तक पहुंच गया है। कोलकाता में प्याज की कीमत 65 रुपये प्रति किलोग्राम तक पहुंच गई है, जो पिछले साल 60 रुपये प्रति किलोग्राम पर थी। दिल्ली में प्याज का भाव 51 रुपये तक पहुंच गया है, जो पिछले साल 46 रुपये प्रति किलोग्राम पर था।

वहीं, प्याज की पैदावार के लिए मशहूर नासिक में मंगलवार को प्याज की कीमत 66 रुपये प्रति किलोग्राम तक पहुंच गई, जो पिछले साल 35 रुपये प्रति किलोग्राम पर थी।

घरेलू स्तर पर उपलब्धता को बेहतर करने और कीमतों पर अंकुश लगाने के लिए सरकार ने पिछले महीने प्याज के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया था।