भरी दोपहरी में वृद्धा की हत्या, हत्यारा जेवर ले हुआ फरार

20

कनखल के पहाड़ी बाजार में दिनदहाड़े एक वृद्धा की हत्या कर जेवर लूटने का मामला सामने आया है। घर में लगे सीसीटीवी कैमरे की डीवीआर भी गायब मिली। पुलिस ने मामला संज्ञान में लेकर छानबीन शुरू कर दी है।

सीओ सिटी अभय सिंह ने बताया नगर निगम के वरिष्ठ लिपिक के पद से रिटायर्ड हुए रोशन लाल वोहरा का कुछ साल पहले देहांत हो चुका है। उनकी पत्नी आशा रानी व बेटा सुमित पहाड़ी बाजार में रहते हैं। दोनों बेटियों की शादी हो चुकी है। बेटा सिडकुल की कंपनी में ड्यूटी पर गया था। घर में आशा रानी अकेली थी।

दोपहर के समय किसी ने घर में घुसकर आशा रानी की हत्या कर दी। पता तब चला जब पड़ोस में रहने वाली महिला उनके घर पहुंची तो देखा कि महिला तख्त पर पड़ी थीं। उनके गले पर दबाव के निशान बने हुए थे और नाक व कान से कुंडल आदि गायब थे। मोनिका के शोर मचाने पर आस पास के लोग आ गए और आशा रानी को अस्पताल ले जाया गया। जहां के डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। घर में तीन सीसीटीवी कैमरे लगे हैं, मगर डीवीआर गायब मिली। हत्या के पीछे लूटपाट ही कारण रहा है, या कोई पुरानी रंजिश है, पुलिस इन सभी पहलुओं पर पड़ताल कर रही है। कनखल का पहाड़ी बाजार घनी आबादी वाला इलाका है। आशा रानी के घर का एक दरवाजा मुख्य मार्ग की तरफ खुलता है। दूसरा दरवाजा पीछे तंग गली में है।

मेन रोड पर बाहर आस पास बाजार है और दिन भर चहल-पहल रहती है। दूसरी तरफ गली में भी अगल-बगल मकान बने हुए हैं। ताज्जुब की बात यह है कि किसी ने भी आशा रानी के घर में किसी संदिग्ध को आते-जाते नहीं देखा है। प्रथम दृष्टया गला दबाकर हत्या हुई है, लेकिन अगल-बगल में रहने वाले किसी ने भी चीख पुकार नहीं सुनी। एक घर का रोशनदान भी आशा रानी के घर की तरफ खुलता है। दिनदहाड़े हत्यारा आशा रानी के घर में दाखिल होता है और हत्या व जेवर लूट करने के बाद डीवीआर तक उखाड़ ले जाता है। इसकी किसी को भनक तक नहीं लगती। यह बात पुलिस के गले नहीं उतर रही है। गली में कोई बाहरी व्यक्ति मुश्किल ही पहुंचता है। किसी के घर में मेहमान या अन्य काम से कोई बाहरी व्यक्ति आता है तो सबकी नजर उस पर पड़ती है। क्योंकि दिन में अधिकांश महिलाएं मेन रोड की तरफ या गली की ओर अपने घरों के बाहर बैठी रहती हैं।