17 सेकंड में बैंक से 10 लाख चुराने वाले 11 साल के बच्चे का सुराग नहीं

नीमच,। मध्य प्रदेश की जिला सहकारी बैंक की जावद शाखा से मात्र 17 सेकंड में 11 साल के बच्चे द्वारा 10 लाख रुपये चुराने के मामले में पुलिस 30 घंटे बाद भी खाली हाथ है। बुधवार को पुलिस ने आसपास के गांवों में खानाबदोश लोगों के डेरों की सर्चिग की और ढाबे तलाशे। सीसीटीवी फुटेज के माध्यम से अलग-अलग इलाके में बच्चे को खोजने का प्रयास जारी है।

ज्ञात हो कि जिला सहकारी बैंक नीमच की जावद शाखा में मंगलवार सुबह लगभग 11 बजे बैंक का नियमित कामकाज शुरू हुआ था। गार्ड रणजीत राठौर ने 500-500 की गड्डी में बंधे 20 लाख रुपये कैशियर के केबिन में रखे। इसी समय कैशियर दानिश खान पेटी लेने तिजोरी की तरफ गए। तभी मौका देखकर करीब 11 साल का बालक कैशियर के केबिन में घुसा और 500-500 रुपये के नोटों की दो गड्डियां थैले में डालकर मात्र 17 सेकंड में चंपत हो गया। तिजोरी कक्ष से लौटे कैशियर खान ने रुपये गायब देख तत्काल मैनेजर एलएन मीणा को सूचना दी। मीणा खुद थाने पहुंचे और रिपोर्ट दर्ज कराई। सीसीटीवी फुटेज के माध्यम से पता चला कि लगभग 11 वर्षीय बालक ने मात्र 17 सेकंड में इस घटना को अंजाम दिया।

बैंक कैशियर की भी लापरवाही

बैंक कर्मचारियों की भी बड़ी लापरवाही सामने आई है। सामान्य तौर पर कैशियर का केबिन हमेशा बंद रहता है, यदि कैशियर को बाहर निकलना होता है तो वह दो मिनट के लिए भी केबिन को लॉक करता है। कलेक्टर जितेंद्र सिंह राजे के आदेश के बावजूद बैंक में प्रवेश करने वालों की मास्क हटाकर स्कैनिंग नहीं की जा रही थी।

बच्चा गैंग सक्रिय : एसपी

नीमच के पुलिस अधीक्षक (एसपी) मनोज कुमार राय ने आशंका जाहिर की है कि क्षेत्र में कोई बच्चा गैंग सक्रिय है। पिछले दिनों मनासा में भी एक किसान के बैग से एक लाख 80 हजार रुपये चोरी हुए थे। इस दौरान किसान बाइक खड़ी कर बाजार में आम खरीदने में व्यस्त था। राय ने बताया कि रुपये लेकर फरार बच्चे की तलाश जारी है। शीघ्र ही आरोपित बच्चे को खोज निकालेंगे। (साभार  जेएनएन)