NIA ने देशी रॉकेट लॉन्चर, 12 पिस्तौल, 100 मोबाइल फोन, 135 सिम कार्ड, कई लैपटॉप 150 राउंड गोलाबारूद किया बरामद

27

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने बुधवार को आतंकी संगठन आईएसआईएस के मॉड्यूल ‘हरकत-उल-हर्ब-ए-इस्लाम’ के एक सरगना सहित 16 संदिग्धों को धर दबोचा. यह सभी कथित रूप से उत्तर भारत, खासकर दिल्ली में हमला करने की साजिश रच रहे थे. एनआईए ने उत्तर प्रदेश और दिल्ली में 17 जगहों पर छापेमारी की. एनआईए के आईजी आलोक मित्तल ने बताया कि समूह के सरगना मुफ्ती सोहेल सहित 10 लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

उन्होंने कहा कि ये मॉड्यूल दिल्ली में महत्वपूर्ण राजनीतिक और सुरक्षा कार्यालयों पर हमले की योजना बना रहा था. मित्तल ने कहा, “यह एक स्व-वित्त पोषित समूह था. यह अपने घरों से सोने के आभूषण चुराते थे और उसे बेचकर अपनी गतिविधियां चलाते थे. वे रिमोट कंट्रोल बम या फिदायिन जैसे हमले की योजना बना रहे थे.”

ये सामान हुआ बरामद

एजेंसी ने देशी रॉकेट लॉन्चर, 12 पिस्तौल, 120 अलार्म क्लॉक, 100 मोबाइल फोन, 135 सिम कार्ड, कई लैपटॉप और विभिन्न बिजली के उपकरण और इसके अलावा 150 राउंड गोलाबारूद बरामद किया है.

गिरफ्तार संदिग्धों ने बुलेट-प्रूफ फिदायीन वेस्ट बनाने का भी प्रयास किया था. इसे अमरोहा से बरामद किया गया. मुफ्ती सोहेल उत्तर प्रदेश के अमरोहा का रहने वाला है और वह दिल्ली के जाफराबाद इलाके में रह रहा था.

लखनऊ, हापुड़ और मेरठ में भी छापे

उत्तर प्रदेश के लखनऊ, हापुड़ और मेरठ में भी छापे मारे गए. राज्य सरकार के एक अधिकारी ने कहा कि अमरोहा में अंसार गजवतउल हिंद के प्रमुख जाकिर मूसा की मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद राज्यभर को अलर्ट पर कर दिया गया है.

अमरोहा जिले के सैदपुर इम्मा गांव में छापा मारकर शहीद अहमद के तीन बेटों इदरीस, नफीस और अनीस को एनआईए ने पकड़ा है. शहीद की जिले के धनौरा अड्डा में वेल्डिंग की दुकान है. अहमद भी कुछ वक्त से एनआईए के रडार पर था. तीनों भाइयों से पूछताछ की जा रही है. डीएनएस कॉलेज के छात्रों द्वारा आतंकवादी जमशेद को एक पिस्तौल बेचने के बाद आतंकवाद-रोधी जांच एजेंसी द्वारा पिछले तीन महीने से तीनों की गतिविधियों पर नजर रखी जा रही थी.

अमरोहा जिले शाही चबूतरा इलाके, पचदारा इलाके और सिराज लस्सीवाला के घर पर भी छापेमारी की गई. पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद इलाके में एनआईए ने दिल्ली पुलिस की विशेष सेल के साथ मिलकर छापेमारी कर सात पिस्तौलें और तलवारें बरामद कीं. मित्तल ने कहा कि गिरफ्तार किए गए लोगों से पूछताछ में मॉड्यूल से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां, उनकी योजनाओं और इसका संचालन करने वालों के बारे में खुलासा हो सकेगा.