राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, सुमाड़ी में ही स्थापित होगा: निशंक

देहरादून । प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ धन सिंह रावत एवं सांसद तीरथ सिंह रावत ने सोमवार को शास्त्री भवन, नई दिल्ली में केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री रमेश पोखरियाल निशंक से भेंट की।

इसके अलावा प्रवेश की पूरी प्रक्रिया श्रीनगर में होगी। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सुमाड़ी में युद्धस्तर पर काम करवाकर एनआईटी बनाया जाएगा। बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि सितंबर प्रथम सप्ताह में स्थाई परिसर सुमाड़ी का शिलान्यास किया जाएगा।

उन्होंने केन्द्रीय मंत्री से उत्तराखण्ड में एनसीईआरटी का प्रशिक्षण केन्द्र तथा केन्द्रीय विद्यालय समिति एवं नवोदय विद्यालय समिति का क्षेत्रीय कार्यालय खोलने के साथ ही प्रदेश में केन्द्रीय विश्वविद्यालय श्रीनगर में अकादमिक नेतृत्व एवं शिक्षा प्रबन्धन का केन्द्र खोलने का भी अनुरोध किया।

इसके साथ ही उन्होंने उत्तराखण्ड में एनआईओएस के माध्यम से कौशल विकास पाठ्यक्रमों को संचालित करने का भी अनुरोध किया। उच्च शिक्षा मंत्री ने केन्द्रीय मंत्री से प्रदेश में एक केन्द्रीय शोध केन्द्र हेतु स्वीकृति एवं वित्तीय सहायता प्रदान करने, प्रदेश में 2000 से अधिक संख्या वाले महाविद्यालयों को स्वायत्त महाविद्यालयों के रूप में उच्चीकृत करने हेतु सहायता प्रदान करने के साथ ही, प्रदेश के 1000 से 2000 संख्या वाले महाविद्यालयों मैन्टरिंग महाविद्यालयों के रूप में तैयार करने हेतु सहायता प्रदान करने, राज्य के जनपद चमोली में कलस्टर विश्व विद्यालय, प्रदेश के महाविद्यालयों में छात्राओं की अधिकता के दृष्टिगत महिला विश्वविद्यालय की स्वीकृति के साथ ही ज्योतिष महाविद्यालय खोलने का भी अनुरोध किया है।

उन्होंने पर्वतीय राज्य विशेषकर उत्तराखण्ड के परिप्रेक्ष्य में रूसा के नियमों में शिथलीकरण करते हुए बिना नैक के भी आर्थिक सहायता दिये जाने की अपेक्षा की।
केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री श्री निशंक ने राज्य हित से जुड़ी योजनाओं के लिये यथा सम्भव सहयोग का आश्वासन दिया। उन्होंने यह भी आश्वासन दिया है कि एनआईटी का केम्पस सुमाडी (श्रीनगर) में ही रहेगा। बैठक में उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत, सांसद पौड़ी तीरथ सिंह रावत, अपर मुख्य सचिव ओम प्रकाश आदि मौजूद रहे।