भारत में आज ही के दिन पहली मोबाइल कॉल हुई थी

82

आज ही के दिन 23 साल पहले भारत में मोबाइल क्रान्ति की शुरुआत की नींव पड़ी थी। तब से लेकर आज की बात करें तो देश दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा टेलिकॉम मार्केट बन चुका है। भारत में तेजी से मोबाइल फोन यूजर्स की संख्या में बढ़ोत्तरी हो रही है। बता दें कि 31 जुलाई, 1995 में ही पश्चिम बंगाल के तत्कालीन मुख्यमंत्री ज्योति बसु ने पहली मोबाइल कॉल कर तत्कालीन केंद्रीय दूरसंचार मंत्री सुखराम से बात की थी। आइये जानते हैं भारत में मोबाइल कॉल से जुड़ी कुछ बड़ी बातें।

ज्योति बसु ने यह कॉल कोलकाता की राइटर्स बिल्डिंग से नई दिल्ली स्थित संचार भवन में की थी।

भारत की पहली मोबाइल ऑपरेट कंपनी मोदी टेल्स्ट्रा थी और इसकी सर्विस को मोबाइल नेट (mobile net) के नाम से जाना जाता था। पहली मोबाइल कॉल इसी नेटवर्क पर की गई थी।

मोदी टेल्स्ट्रा भारत के मोदी ग्रुप और ऑस्ट्रेलिया की टेलिकॉम कंपनी टेल्स्ट्रा का जॉइंट वेंचर था। यह कंपनी उन 8 कंपनियों में से एक थी जिसे देश में सेल्युलर सर्विस प्रोवाइड करने के लिए लाइसेंस मिला था।

भारत में मोबाइल सेवा को ज्यादा लोगों तक पहुंचने में समय लगा और इसकी वजह थी महंगे कॉल टैरिफ। शुरुआत में एक आउटगोइंग कॉल के लिए 16 रुपये प्रति मिनट तक शुल्क लगता था।

गौर करने वाली बात है कि मोबाइल नेटवर्क की शुरुआत के समय आउटगोइंग कॉल्स के अलावा, इनकमिंग कॉल्स के पैसे भी देने होते थे। ऐसा माना जाता है कि मोबाइल सेवा शुरू होने के 5 साल बाद तक मोबाइल सब्सक्राइबर्स की संख्या 50 लाख पहुंची। लेकिन इसके बाद

यह संख्या कई गुना तेजी से बढ़ी। अगले 10 साल में मोबाइल सब्सक्राइबर्स बेस बढ़कर 687.71 मिलियन हो गया।

1995 में विदेश संचार निगम लिमिटेड ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर इंटरनेट कनेक्टिविटी का तोहफा भारत के लोगों को दिया। कंपनी ने देस में गेटवे इंटरनेट ऐक्सिस सर्विस के लॉन्च का ऐलान किया। शुरुआत में यह सेवा चारों मेट्रो शहरों में ही दी गई।

लोग डिपार्टमेंट ऑफ टेलिकम्युनिकेशन्स आई-नेट के जरिए लीज्ड लाइन्स या डायल-अप फैसिलिटीज़ के साथ इंटरनेट इस्तेमाल करते थे। उस समय 250 घंटों के लिए 5,000 रुपये देने होते थे जबकि कॉरपोरेट्स के लिए यह फीस 15,000 रुपये थी।

आज जिसे तेजी से मोबाइल मार्किट बदल रही उतनी तेजी से कभी कोई मार्किट नहीं बदल रहा | आज इंटरनेट से लेकर कॉल तक कुछ सौ रुपये में मिल रहा जबकि एक समय था उससे भी कम स्पीड और डाटा के लिए ज्यादा पैसा देना पड़ता था, आज सस्ते इंटरनेट की ही बजह से ऑनलाइन शॉपिंग, इंटरनेट प्रोग्रामिंग, बैंकिंग और न जाने कितने काम कुछ ही चुटकियों में हो रहे |

जिस तरह से इंटरनेट का इस्तेमाल बढ़ रहा देखकर लगता है हवा, पानी, रौशनी के साथ इंटरनेट भी आवश्यक बस्तु में गिना जाने लगा है

source- wikipedia

 
Rankings Country or regions Number of mobile phones Population Connections/100 citizens Date of evaluation
 World
7,000,000,000+ 7,324,782,000 96 2015[1][2]
1 China China 1,321,930,000 1,371,220,000 96.40 December 2016[3][4]
2 India India 1,183,408,611 1,131,005,994 86.89 May 2018[4][5]
3 United States United States 327,577,529 317,874,628 103.1 April 2014[6][7]
4 Brazil Brazil 284,200,000 201,032,714 141.3 May 2015[8][9]
5 Russia Russia 256,116,000 142,905,200 155.5 July 2013[8][10]
6 Indonesia Indonesia 236,800,000 237,556,363 99.68 September 2013[8]
7 Nigeria Nigeria 167,371,945 177,155,754 94.5 February 2014[11]
8 Japan Japan 146,649,600 127,300,000 115.2 2013[12]
9 Pakistan Pakistan 150,169,643 207,774,520 74.21 April 2018[13][14][15][16]
10 Bangladesh Bangladesh 131,376,000 157,497,000 84.95 June 2016[17][18][19][20]
11 Germany Germany 107,000,000 81,882,342 130.1 2013[21]
12 Philippines Philippines 106,987,098 94,013,200 113.8 October 2013[22]
13 Mexico Mexico 101,339,000 112,322,757 90.2 July 2013[23]
14 Iran Iran 96,165,000 73,973,650 130 February 2013[24]
15 Egypt Egypt 93,670,000 87,120,000 107.17 December 2015[25]
16 Italy Italy 88,580,000 60,790,400 147.4 December 2013[26]
17 United Kingdom United Kingdom 83,100,000 64,100,000 129.6 2013[27]
18 Vietnam Vietnam 72,300,000 90,549,390 79 October 2013[28]
19 Turkey Turkey 72,200,000 79,463,663 92.5 2015[29][30]
20 France France 72,180,000 63,573,842 114.2 December 2013[31]
21 Thailand Thailand 69,000,000 67,480,000 105 2015[32]
22 South Africa South Africa 59,474,500 50,586,757 117.6 2013[33]
23 Colombia Colombia 57,900,472 49,375,617 118.9 2017[34][35][36]
24 Ukraine Ukraine 57,505,555 45,579,904 126.0 December 2013[37]
25 Argentina Argentina 56,725,200 40,134,425 141.34 2013[38]
26 South Korea South Korea 56,004,887 50,219,669 111.5 2014[39]
27 Spain Spain 55,740,000 47,265,321 118.0 February 2013[40]
28 Poland Poland 47,153,200 38,186,860 123.48 2013[41][42]
29 Saudi Arabia Saudi Arabia 46,000,000 27,137,000 169.5 June 2013[43]
30 Morocco Morocco 44,450,000 33,818,662 131 2015[44]
31 Peru Peru 34,235,000 31,179,417 109.8 2015[45]
32 Nepal Nepal 34,172,058 26,620,020 134.41 NTA_MIS_128,2018[46]