प्रवासी युवाओं ने की अनोखी पहल की शुरूआत, गांव को स्वच्छ रखने के लिए हाथ बढ़ाये

मसूरी। पहाड़ो की रानी मसूरी के समीपी जौनपुर विकास खण्ड के ग्राम पंचायत बंगसील में प्रवासी युवाओं ने गांव को स्वच्छ रखने के लिए अनोखी पहल चलायी जिसकी सराहना की जा रही है। कोरोना महामारी के बीच बाहर से अपने गांव लौट आये प्रवासी युवाओं ने देश के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान को दृष्टिगत रखते हुए प्रवासी युवा समूह बनाकर गांव में स्वच्छता अभियान का शुभारंभ किया। युवाओं ने गांव की गली कूचों से लेकर सभी सम्पर्क मार्गों व पंचायती चौक को साफ सुथरा रखने का निर्णय लिया है। युवाओं की इस अनोखी पहल का पूरी ग्राम पंचायत ने स्वागत किया और बधाई दी है, युवाओं ने हरेला पर्व के तहत पेड़ लगाने के बजाय गांव में स्वच्छता अभियान का शुभारम्भ किया जिसमें गांव की महिलाओं ने भी सहयोग कर युवाओं का उत्साह वर्धन किया है। प्रवासी युवा कोमल सिंह राणा, अंकित राणा, कमल पंवार, सोमबारी लाल, प्रवीण सिंह राणा का कहना है कि प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत मिशन को साकार करने के लिए जरूरी है कि देश के हर गांव को स्वच्छ रखा जाये, उन्होंने बताया कि गांव की स्वच्छता व गांवो का विकास ही प्रगतिशील भारत को ताकतवर बना सकता है,और कहा कि जब देश का प्रत्येक गांव स्वच्छ होगा तो प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के सपनो के अनुसार भारत की स्वच्छ तस्वीर होगी। वही उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी के कारण आये दिन राज्य में 3 लाख 28 हजार प्रवासी लोग गांव आ चुके है, जिस कारण हर प्रवासी युवाओं को गांव हित के लिए कुछ अलग करना चाहिए। उन्होंने बताया कि ग्राम पंचायत बंगसील में युवाओं ने जो स्वच्छता अभियान का जिम्मा लिया उनका समूह इस मुहिम को गांव में जारी रखेंगे, और गांव को स्वच्छ रखने का प्रयास करेंगे। इस मौके पर नवीन, विपिन, मनजीत, अमित, आयुष, बादल, पकंज, अनीश सहित बड़ी संख्या में प्रवासी युवा मौजूद रहे।