लुधियाना : खौफनाक घटना, बिल्डर ने पत्नी, बेटा-बहू और पोते को काट डाला

लुधियाना (संवाद न्यूज एजेंसी), पंजाब के लुधियाना जिले से ऐसी खौफनाक घटना की खबर आई है, जहां जिले के मयूर विहार में एक घर में चार लोगों की लाशें मिलने से सनसनी फैल गई और कुछ ही देर में पूरे मामले का खुलासा भी हो गया। एक बिल्डर ने अपनी पत्नी, बेटे, बहू और 13 वर्ष के पोते को कुल्हाड़ी से काट मौत के घाट उतारा। मौत से कुछ समय पहले बच्चे ने मामा को फोन कर इस खौफनाक वारदात के बारे में बताया। मामा से हुई बच्चे की आखिरी फोन कॉल आपको को भी रुला देगी।

चौहरे हत्याकांड में मारे गए 13 वर्ष के सुचेत और उर्फ बबला में मां की मौत का मंजर देखा था। जब राजीव सुंडा अपनी बहू गरिमा पर वार कर रहा था, तब बबला ने मामा गौरव को फोन कर इसकी जानकारी दी। इससे माना जा रहा है कि बबला ने अपनी मां की हत्या होते हुए देखी, पुलिस कमिश्नर राकेश अग्रवाल का भी यहीं कहना है कि जब गरिमा पर वार हो रहे थे तो बबला ने अपने मामा गौरव को फोन कर बताया था कि दादा और पापा उसकी मां को मार रहे है। इसके बाद गौरव अपने पिता अशोक के साथ वहां पहुंचा था। उनके पहुंचने से पहले ही राजीव परिवार के सभी सदस्यों को मौत के घाट उतार चुका था।

उन्होंने कहा कि जैसे बच्चे ने अपने मामा को फोन किया है, उससे यहीं प्रतीत होता है कि बच्चे ने मां की मौत का पूरा मंजर देखा है। अब पुलिस राजीव की भी तलाश करने में जुटी है। उसके पकड़े जाने के बाद ही खुलासा होगा कि किसे सबसे पहले और किसे सबसे बाद में मारा गया।

पड़ोस के लोग बताते हैं कि राजीव सुंडा का परिवार खुद तो घर से बाहर नहीं निकलता था और बच्चे को भी घर से बाहर नहीं निकलने देते थे। आसपास के बच्चों को भी बबला के बारे में कुछ पता नहीं था। बबला कौन से स्कूल पढ़ता है, किसी को कुछ नहीं मालूम था। बबला को परिवार वाले खुद स्कूल छोड़ने जाते और खुद ही लेने जाते थे। लॉकडाउन में एक दिन ही बबला इलाके के लोगों को नजर आया था। बिल्डर द्वारा किस कारणों से यह जघन्य हत्यायें की, पुलिस इस संबन्ध में जांच कर रही है |