केदारनाथ में हल्की बर्फबारी, निचले इलाकों में बढ़ी ठंड

केदारनाथ में हल्की बर्फबारी हुई। सुबह से ही मुख्यालय सहित जिले के अनेक स्थानों पर आसमान में बादल छाए रहे। केदारनाथ धाम में दोपहर तीन बजे के बाद मौसम में और खराबी आई और सांय होते ही हल्की बर्फबारी हुई।

उधर, आदिगुरू शंकराचार्य के समाधि स्थल के पुननिर्माण समेत अन्य कार्य चलते रहे। वुड स्टोन के टीम प्रभारी मनोज सेमवाल ने बताया कि बीते चार दिनों तक धाम में मौसम सुहावना था। जिस कारण कार्य तेजी से हो रहे थे, किंतु बुधवार को मौसम के खराब होने से ठंड बढ़ गई है। धाम में अधिकतम तापमान 10 डिग्री व न्यूनतम माइनस 4 डिग्री सेल्सियश दर्ज किया गया। रात को यहां पारा माइनस 10 तक गिर रहा है, जिससे कड़ाके की ठंड पड़ रही है। वहीं जिला मुख्यालय सहित जिले के अनेक स्थानों पर दिनभर मौसम खराब होता रहा।

धारचूला के प्रवासी गांवों सेला, नागलिंग, चल, दांतू, सीपू और तिंदाग में मंगलवार रात दो से तीन फीट तक बर्फबारी हुई। उच्च हिमालयी क्षेत्रों में बर्फबारी से अधिकतम और न्यूनतम तापमान में दो डिग्री और न्यूनतम तापमान 1 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई। बुधवार को तराई-भाबर का न्यूतम तापमान 7 डिग्री रहा।

बुधवार के कुमाऊं में दोपहर तक धूप रही, इसके बाद हल्के बादल छा गये। मुनस्यारी, धारचूला, गंगोलीहाट, बेरीनाग, कनालीछीना में हल्के बादल छाए रहने से ठंड में इजाफा हुआ। आसमान में बादलों के छाए रहने से जिले का अधिकतम तापमान 13.7 और न्यूनतम तापमान 6.00 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पंतनगर कृषि विवि के मौसम विज्ञान विभागाध्यक्ष डा. आरके सिंह ने बताया कि गुरुवार और शुक्रवार को कुमाऊं के अधिकांश स्थानों में मौसम खराब रहेगा। इन दो दिनों में ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी और ओलावृष्टि होगी। जबकि मैदानी क्षेत्रों में भी बारिश के आसार हैं।