खेतों में सौर ऊर्जा उत्पादन के पायलट प्रोजेक्ट को मंजूरी : पंजाब

109

पंजाब सरकार भी अब किसानो की आय बढ़ाने की कोशिश की ओर अग्रसर हो रही इस के तहत CM कैप्टन अमरिंदर सिंह ने किसानों की आय बढ़ाने के मद्देनजर किराए के आधार पर कृषि वाली जमीन पर सौर ऊर्जा पैदा करने के लिए पायलट प्रोजेक्ट शुरू करने की मंजूरी देते हुए किसानों को अधिक कीमतों वाले फल और सब्जियों के उत्पादन की भी इजाजत दे दी है। सोमवार शाम सीएम के सरकारी निवास पर कन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्रीज (CII) के राष्ट्रीय प्रधान राकेश भारती मित्तल के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल के साथ मीटिंग में Caption ने महाराष्ट्र में CII की निगरानी अधीन विकसित किए गए ऐसे ही प्रोजेक्ट को जांचने के लिए पंजाब ऊर्जा विकास एजेंसी (पेडा) और कृषि और बागबानी के सीनियर अधिकारियों का सांझा प्रतिनिधिमंडल वहां भेजने के लिए सहमति दी।

CII के डायरेक्टर जनरल चंद्रजीत बैनर्जी ने caption को बताया कि प्राइवेट कंपनियां कम से कम 25 साल की लीज पर किसानों की जमीन पर सोलर प्लांटों की स्थापना करने की इच्छुक हैं। CM ने उम्मीद जाहिर की कि ऐसे प्रोजेक्ट कंडी क्षेत्रों और दक्षिण-पूर्वी पंजाब खासकर किन्नू के बाग वाले इलाकों और लुधियाना और मलेरकोटला में सब्जियां पैदा करने वाले क्षेत्रों में लगाए जा सकते हैं। सीएम ने CII के सुझाव पर ग्रीन बिल्डिंग के पायलट प्रोजेक्ट को हरी झंडी देते हुए मोहाली में स्थापित किए जाने वाले सरकारी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में इस प्रोजेक्ट को अमल में लाने की इच्छा जाहिर की। CM ने अपने प्रिंसिपल सेक्रेटरी को दिल्ली और लुधियाना के मध्य हवाई उड़ानों की संख्या बढ़ाने के लिए मंजूरियों संबधी तुरंत कदम उठाए जाने के लिए कहा।

मित्तल ने रिकॉर्ड समय में नई औद्योगिक नीति को लागू करने, बिजली दरों में कटौती, पंजाब स्टार्ट अप और उद्यम नीति-2017 व महिलाओं को अपना कारोबार चलाने में सहायता जैसे उपायों की सराहना की। उन्होंने भरोसा दिलाया कि CII औद्योगिक शहरों में रोजगार के लिए औद्योगिक मॉडल करियर सेंटर खोलेगी। अब तक 1600 से अधिक कंपनियों में 55 हजार उम्मीदवारों को रोजगार मुहैया कराया गया है।