जानें क्या है वजह, जिससे सिर का एक हिस्सा दर्द होने लगता है, नजरअंदाज न करें

सिरदर्द की समस्या सभी लोगों में पाई जाने वाली समस्या है। जिसके कारण हम ज्यादा परेशान होने लगते है और हमारा सारा ध्यान काम से हट जाता है। यह समस्या सभी उम्र के लोगों में पाई जाती है चाहे वह बूढ़ा हो या बच्चा। हर कोई इस समस्या से ग्रस्त है। कई बार हम सिरदर्द होने पर पेनकीलर लेते है। जो हमारे शरीर के लिए हानिकारक होती है। सिरदर्द की समस्या किसी भी कारण से हो सकती है। कई बार ज्यादा तनाव में सिरदर्द होने लगता हैा तो कई बार बिना किसी वजह से सिरदर्द होता है। कई लोगों के सिर का एक हिस्सा दर्द होने लगता है। हम आपको बता रहे है कि क्यो आपके सिर में दर्द होने लगता है।

ज्यादतर हमारे सिर में दर्द का कारण न्यूरोलॉजिकर परेशानियों के चलते होता है। इससे हमारे दिमाग के किसी भी हिस्सें में दर्द होना शुरु हो जाता है। यह सब दिमाग के नंसे में आई समस्या के कारण होता है।जिसमें सिर के एक तरफ छिदवाने, नसों के धड़कने या बिजली के झटके जैसा तेज दर्द होता है। यह तब होता है जब रीढ़ की हड्डी और खोपड़ी के ऊपरी हिस्से के बीच की कुछ नसें क्षतिग्रस्त हो जाती हैं या उनमें सूजन हो जाती हैं।

कई बार हमारी गर्दन और नसों में सूजन हो जाती है।जिसकें कारण हमारे दिमाग में रक्त प्रवाह रुक जाता है। जिससें हमारे सिर के एक हिस्सें में दर्द होने लगता है

ज्यादतर समय में हमारें चेहरे की मांसपेशियों में दर्द होने लगता है। जो क्रानिक पेन की समस्या है जो हमारी खोपड़ी में नंसों को प्रभावित करती है। जिससें कई बार हमारे सिर के एक हिस्सें में दर्द होने लगता है।

ये भी एक सच है कि ज्यादा दवाईयों लेने के कारण हमारे शरीर के साथ-साथ हमारे दिमाग पर भी बुरा असर पड़ता है। ज्यादा मात्रा में दवाईयां नही लेनी चाहिए।

सर्दियों के मौसम में सिर में सबसे ज्यादा दर्द होता है। सिर के किसी खास भाग में होने वाले दर्द को सिर दर्द के नाम से जाना जाता है। यह सिर के किसी भी हिस्से में हो सकता है, मसलन कनपटी के पास, माथे पर, सिर के पिछले हिस्से में, दोनों कनपटियों में या पूरे सिर में एक साथ भी हो सकता है। पूरे सिर में एक साथ होने वाले दर्द को क्लटर दर्द कहते हैं, जो आमतौर पर तनाव या थकान के कारण हो जाता है। सिर के किसी एक हिस्से में असहनीय दर्द का कारण माइग्रेन या अधकपारी होता है। इसमें जी मिचलाता है और कई बार उल्टी भी हो जाती है। साइनस के दर्द में सिर में दर्द के साथ-साथ चेहरे की हड्डियों और नाक में भी दर्द होता है। सर्दियों के मौसम में माइग्रेन और साइनस के मरीज सिर दर्द का शिकार ज्यादा होते हैं।

भोजन हो संतुलित 
सर्दियों के मौसम में सिर दर्द को अपनी दिनचर्या से दूर भगाये रखने के लिए जरूरी है कि आप हेल्दी और संतुलित भोजन का सेवन करें। अपने आहार में मौसमी फलों मसलन, संतरा, अंगूर, अनार, सेब, अमरूद आदि को शामिल करें। सेब के नियमित सेवन से आप काफी हद तक सिर दर्द की समस्या से दूर रह सकते हैं। सेब में शरीर को डिटॉक्सिफाई करने वाली सामग्री पेक्टिन की बहुतायत होती है। अपने आहार में मौसमी फलों के साथ हरी पत्तेदार सब्जियों पालक, ब्रोकोली, शिमला मिर्च, पत्ता गोभी, मूली, गाजर, चुकंदर, आंवला, मशरूम आदि को नियमित हिस्सा बनाएं। मशरूम में प्रोटीन के अलावा विटामिन डी भरपूर मात्रा में होता है, जो सर्दियों में सिर दर्द से दूर रखने में मददगार साबित होता है। शरीर में प्रोटीन की कमी को पूरा करने के लिए चिकन का इस्तेमाल करें। सर्दियों में ठंड को रोकने के लिए शरीर को ज्यादा ऊर्जा की खपत करनी होती है, इसलिए इस मौसम में अपने आहार में उन चीजों को शामिल करना चाहिए, जो शरीर को गर्मी प्रदान करने वाली हों जैसे आलू, शकरकंदी, लहसुन, प्याज, अदरक आदि में शरीर को गर्मी प्रदान करने वाले तत्व विद्यमान होते हैं। इन सारी चीजों के अलावा अपने शरीर को गर्म रखने के लिए अपने आहार में सब्जियों और चिकन का सूप इस्तेमाल करें।

तीनों टाइम का खाना खाएं
अगर आप चाहते हैं कि आप सर्दियों के मौसम में सिर दर्द से बचे रहें तो इसके लिए जरूरी है कि आप इस मौसम में सुबह के नाश्ते से लेकर रात के खाने तक के किसी भी आहार को मिस न करें। इस मौसम में शरीर को ज्यादा ऊर्जा की जरूरत होती है। जब आप पूरे दिन का भोजन नहीं करते तो ना चाहते हुए भी आपको सिर दर्द का शिकार होना पड़ता है। इसकी वजह है भूखे पेट रहना। सुबह के नाश्ते में अंकुरित मूंग, सब्जियों और फल के सलाद के साथ ब्रेड ऑमलेट के अलावा रोटी सब्जी या परांठा सब्जी के साथ छाछ या एक गिलास स्किम्ड मिल्क और दोपहर के खाने में दाल, चावल, सब्जी, ताजा दही और सलाद को शामिल करें। रात का खाना हल्का हो। इसमें आप मिक्स दलिया या खिचड़ी को शामिल कर सकते हैं। इस मौसम में होने वाला सर्दी-जुकाम भी सिर दर्द का एक मुख्य कारण है। इससे बचने के लिए रात को सोते समय एक गिलास हल्दी मिला गरम दूध पिएं।

गहरी नींद लें
जर्नल ऑफ क्लिनिकल स्लीप मेडिसिन द्वारा किये गये एक सर्वेक्षण में पाया गया है कि जब आप गहरी नींद नहीं सो पाते तो ना चाहते हुए भी सिर दर्द का शिकार हो जाते हैं। सर्दियों में दिन के मुकाबले रातें ज्यादा लम्बी होती हैं, जिसकी वजह से आप नींद ना आने के बावजूद ज्यादा देर तक बिस्तर पर लेटे रहते हैं। इस कारण भी सिर में दर्द होने लगता है। इससे बचने के लिए अगर आपको नींद नहीं आ रही है तो थोड़ी देर के लिए कोई किताब पढ़ लें। इससे आपको नींद आ जाएगी। सोने से पहले मोबाइल और लैपटॉप का इस्तेमाल करने से परहेज करें। इसके अलावा रात को सोने से पूर्व एक गिलास हल्दी मिला गर्म दूध या गुनगुना पानी पिएं, इससे आपको गहरी नींद आ जाएगी।

बेकार का तनाव ना पालें
सिर दर्द की एक मुख्य वजह तनाव है। ना चाहते हुए भी आप छोटी-छोटी बातों को लेकर तनावग्रस्त हो जाते हैं। इसका कारण कुछ भी हो सकता है। करियर को लेकर उलझनें, बच्चों की पढ़ाई की टेंशन या मौसम में आने वाला बदलाव आपके तनाव का कारण हो सकते हंै। यह सच है कि तनाव को दूर करना मुश्किल है, लेकिन स्वस्थ रहने के लिए और सर्दी के मौसम में अनायास के सिर दर्द को दूर रखने के लिए अपने आपको उन कारणों से दूर रखना जरूरी है, जो आपको तनाव देने वाले हों। तनाव से बचने के लिए नियमित तौर पर सैर और ध्यान करें। अपना ध्यान उन कायार्ें को करने में लगाएं, जिनसे आपको खुशी मिलती हो। व्यायाम को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाएं, क्योंकि व्यायाम करने से तनाव दूर होता है। अपने तनाव को दूर करने के लिए पहले से ही कायार्ें की योजना बना लें, जिससे अंत में उन्हें पूरा करने के लिए आपको तनावग्रस्त न होना पड़े।

खुद को गर्म रखें
सर्दियों में सिर दर्द की सबसे मुख्य वजह ठंड लगना होता है। इससे बचने के लिए यह जरूरी है कि आप अपने आहार में उन चीजों को शामिल करें, जो आपके शरीर को गर्मी प्रदान करें। सर्दियों से बचने के लिए सुबह खाली पेट अजवाइन वाला पानी पिएं। रात को एक चम्मच अजवाइन को पानी में भिगोकर रख दें। सुबह इस पानी को उबालकर पी लें, दिन भर आपका शरीर गर्म रहेगा। इसके अलावा अगर आपको सर्दियों में सिर दर्द की शिकायत होती है तो घर से बाहर जाते समय अपने शरीर और सिर को अच्छी तरह से ढंक कर जाएं, जिससे कि आपको ठंड ना लगे।

ना होने पाये विटामिन डी की कमी
सर्दियों के मौसम में डिप्रेशन आम समस्या है। इसका कारण यह है कि इस समय आपकी बाहर की सक्रियता कम हो जाती है। आप अपना ज्यादा से ज्यादा समय घर के अंदर बिताते हैं। ऐसे में खालीपन की वजह से आप ना चाहते हुए भी डिप्रेशन के शिकार हो सकते हैं। यह सर्दियों में होने वाले सिर दर्द का एक मुख्य कारण है। इससे बचने के लिए यह जरूरी है कि आप अपने शरीर में विटामिन डी की कमी न होने दें। विटामिन डी की कमी को कुछ हद तक तो आप धूप सेंकने से पूरा कर सकते हैं, लेकिन सर्दियों में विटामिन डी की कमी को पूरा करने के लिए इतना भर ही काफी नहीं है। आपको अपने आहार में विटामिन डी युक्त चीजों मसलन वसायुक्त चीजों दही, दूध, मक्खन आदि को शामिल करना चाहिए। इनमें विटामिन डी की प्रचुरता होती है। विटामिन डी की कमी को दूर करने के लिए अपने आहार में मशरूम, चीज, सोयाबीन, टोफू, बादाम, संतरा और अंडे के पीले भाग को शामिल करें। इनमें विटामिन डी-3 की प्रचुर मात्रा उपलब्ध होती है। सी फूड में विटामिन डी की प्रचुरता होती है। इसे आप सप्ताह में दो बार अपने आहार में शामिल करें। इनके अलावा कॉडलिवर ऑयल और सामन मछली को भी अपने आहार का हिस्सा बनाएं। सामन मछली विटामिन डी का बेहतरीन स्रोत है।

ये उपाय भी हैं कारगर
0 अगर आपको ठंड के कारण, ट्रैफिक जाम, नींद न पूरी होने की वजह से दर्द हो रहा है तो एक कॉफी या कैलोमीन टी पिएं।
0 सिर में दर्द होने पर पेनकिलर खाने की बजाय बादाम चबाएं, इससे आराम मिलेगा।
0 सिर के जिस हिस्से में दर्द हो रहा है, उस हिस्से को अपने दोनों हाथों की उंगलियों से दबाएं और सिर पर तेल से मालिश करें।
0 सर्दियों में सिर के दर्द को दूर करने में अदरक रामबाण औषधि का काम करता है। अदरक का इस्तेमाल आप किसी भी रूप में कर सकते हैं, मसलन अदरक वाली चाय पिएं या फिर अदरक को वैसे ही चबाएं, सिर दर्द में आराम मिलने के साथ-साथ हाजमा भी ठीक होगा। सिर में दर्द होने पर अदरक और नीबू के रस को बराबर मात्रा में मिलाकर पिएं। अदरक के पाउडर को दो चम्मच पानी में मिलाकर इसका लेप बना लें और माथे पर लगाएं, तुरंत आराम मिलेगा।
0 सिर में दर्द होने पर सेंट सूंघने से आराम मिलता है। इसमें उपलब्ध मेंथॉल रक्त के प्रवाह को बढ़ाता है, जो सिर दर्द दूर करने में सहायक होता है।
0 एक चम्मच सूखी पिपरमिंट की पत्तियों को एक कप पानी में उबालकर इस पानी को ढककर 10 मिनट के लिए रख दें। इसमें थोड़ा सा शहद मिला दें और इसे धीरे-धीरे पिएं।
0 अपने आहार में दालचीनी और लौंग का इस्तेमाल करें। सिर में दर्द होने पर दालचीनी और लौंग वाली चाय पिएं।
0 सुबह उठकर खाली पेट तुलसी की कुछ पत्तियां चबाएं।
0 नियमित तौर पर एक सेब खाएं। दर्द होने पर एक गिलास पानी में दो बड़े चम्मच सेब का सिरका मिलाकर पिएं।