किसान और जवान है देश के भाग्यविधाता: त्रिकालदर्शी

हरिद्वार ( कुल भूषण शर्मा) भारतीय किसान यूनियन (टिकैत) के नवनियुक्त प्रदेश प्रभारी त्रिकालदर्शी महाराज शिवम पुरी ने कहा कि हमारा देश किसानों और जवानों का देश है, जिसमें किसान और जवान देश के भाग्यविधाता है क्योंकि किसान देश के लिए अन्न उत्पन्न करता है तो वहीं जवान अपने प्राणों को न्यौछावर कर देश की सुरक्षा करता है।

सरकार की दोहरी नीतियों व किसानों के प्रति ढुलमूल रवैये से किसान आजीज हो उठे हैं। कोई भी सरकार किसानों के हित के बारे में बात नहीं करती है। न ही उसकी ओर सोच पाती है। जिससे किसान गरीबी का जीवन यापन करने को विवश है और आये दिन गरीबी से विवश होकर मौत को गले लगा रहा है। उन्होंने केंद्र व प्रदेश सरकार को किसान विरोधी बताते हुए 23 सितम्बर को हरिद्वार से दिल्ली तक किसान शांति पद यात्रा में देश के सभी किसानों को भारी संख्या में शामिल होकर अपनी ताकत अहसास कराने का आवाह्न किया।

शिवम पुरी महाराज ने कहा कि 23 सितम्बर को रोड़ी बेलवाला स्थित किसान घाट से शुरू होने वाली पदयात्रा में 50 हजार से अधिक किसान ट्रैक्टर, ट्रॉली, पैदल व अन्य वाहनों से सरकार की नीतियों के विरूद्ध तीर्थनगरी से दिल्ली कूच करंेगे और केन्द्र में बैठे किसानों के विरोधियों को किसान अपनी ताकत का एहसास करायेंगे। उन्हांेने देश के सभी किसानों का आवाह्न करते हुए कहा कि 23 सितम्बर को भारतीय किसान यूनियन टिकैत की रैली में भाग लेकर अपनी एकता का परिचय दें। उन्होंने बताया कि 2 अक्टूबर को दिल्ली पहुंचकर संसद का घेराव किया जाएगा। उन्हांेने कहा कि 60 से अधिक उम्र वाले किसानों को मासिक पेंशन दी जाए। मुफ्त बिजली व आधुनिक तरीकों से खेती करने के लिए नकद सब्सिडी दी जाए। उत्तराखण्ड में अब तक गन्ने का भुगतान नहीं हुआ है जिससे किसान परेशान हैं। तत्काल गन्ना भुगतान कराया जाए।