स्वस्थ्य जीवन के लिए नियमित दिनचर्या का पालन आवश्यक

हरिद्वार अप्रैल 21 (कुलभूषण) भेषज विज्ञान विभाग मे आयोजित औषधीय पादप महाकुंभ के अंतर्गत ऑनलाइन हैल्थ कैंप मे ऋषिकुल आयुर्वेदिक परिसर की डॉ मनीषा दीक्षित ने अपने विचार आयुर्वेदिक दिनचर्या के बारे में बताया कि आज कोरोना महामारी के समय इसकी नितांत आवश्यकता है

हमे स्वस्थ रहने के लिए दिन एवं रात्री के समय को नियमित दिनचर्या के अनुसार विभाजित करके अपने कार्य सम्पन्न करने चाहिए प् वैदिक काल के आचार्यों के अनुसार हमे सुबह ब्रह्म मुहूर्त में उठकर अपने नित्य कर्म निपटने चाहियें प् दिन के समय को पहर के अनुसार विभाजित करके हमे सभी कार्य सम्पन्न करने चाहियें  रात्री के समय में भी हमे उठने एवं जागने का समय भी निर्धारित होना चाहिय क्योंकि ऐसा न होने से बहुत से मनोरोग अल्जीमर मिर्गी एव अनिंद्रा जैसी बीमारियों भी व्यक्ति को घेर लेती हैं

सत्र की अध्यक्षा बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय की डॉ पूनम शर्मा ने बताया कि हमे भोजन के प्रकार एवं खाने के समय पर भी विशेष ध्यान रखान चाहिए प् ऐसा करके हम शरीर मे कफ पित्त एवं बात को संतुलित करके निरोगी रह सकते है प् खाने में क्षारीय पदार्थों के सेवन से हमारे शरीर की बहुत सी अशुद्धियाँ दूर हो जाती हैं प् सत्र के अध्यक्ष एवं मुख्य वक्ता का परिचय डॉ विपिन शर्मा द्वारा किया गया प् सत्र का संचालन डॉ अश्वनी जंगड़ा द्वारा किया गया प् सत्र के दौरान डॉ दीपिका वर्मा डॉ उषा शर्मा डॉ पल्लवी भूषण डॉ नरेश रांगड़ा डॉ अभिषेक बंसल डॉ वेद भूषण शर्मा कपिल कुमार गोयल विनोद नौटियाल डॉ दिशा उप्रेती आशीष पांडे रोहित भारद्वाज आदि उपस्थित रहे |