इन्वेस्टर्स समिट में पीएम मोदी बोले, ‘भारत में विश्व के नेतृत्व की क्षमता’

The Prime Minister, Shri Narendra Modi inaugurating an exhibition, at the 1st Uttarakhand Investors Summit, at Dehradun, Uttarakhand on October 07, 2018. The Governor of Uttarakhand, Smt. Baby Rani Maurya and the Chief Minister of Uttarakhand, Shri Trivendra Singh Rawat are also seen.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को उत्तराखंड में पहली बार आयोजित ‘इन्वेस्टर्स समिट’ का उद्घाटन किया। रविवार को देहरादून के रायपुर स्थित अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में दो दिवसीय ‘उत्तराखंड इन्वेस्टर्स समिट’ का आगाज हुआ। प्रधानमंत्री मोदी सुबह करीब साढ़े 10 बजे वायुसेना के विशेष विमान से जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंचे। जहां राज्यपाल बेबी रानी मौर्या और मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उनका स्वागत किया। इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी एमआई-17 विमान से कार्यक्रम स्थल पहुंचे।

प्रधानमंत्री की लैंडिंग के साथ एयरपोर्ट से रायपुर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम तक जीरो जोन लागू कर दिया गया। एसपी ट्रैफिक स्वयं रूट पर मौजूद रहे। समिट का उद्घाटन करने के बाद पीएम मोदी ने समिट में लगी प्रदर्शनी और स्टॉल्स का जायजा लिया। उनके साथ उत्तराखंड के राज्यपाल, मुख्यमंत्री और कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज भी मौजूद रहे। इसके बाद प्रधानमंत्री को 360 डिग्री वीडियो के जरिए उत्तराखंड की प्राकृतिक सुंदरता, वन, पर्यटन, बागवानी, धर्म और संस्कृति के नजारे दिखाए गए। इस दौरान राज्य में रोजगार की संभावनाएं भी दिखाई गई। उत्तराखंड की पारंपरिक वंदना ‘दैंणा हुंय्या, खोलि का गणेशा’ के साथ समिट का शुभारंभ हुआ। 30 कलाकारों के दल ने यह मांगल गीत प्रस्तुत किया। कलाकार उत्तराखंड के पारंपरिक परिधानों में सजे हुए थे।

उत्तराखंड के मुख्य सचिव उत्पल कुमार के बाद देश-विदेश से आए बड़े निवेशकों ने अपने विचार रखे। निवेशकों के बाद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपने संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी, उत्तराखंड राज्यपाल, सिंगापुर के मंत्री, चेक गणराज्य के राजदूत, मंत्रियों, उद्योग जगत की हस्तियों और निवेशकों का अभिवादन किया। उन्होंने कहा कि अाज का दिन हमारे लिए सौभाग्य का है। उन्होंने ‘चैंपियंस ऑफ द अर्थ अवार्ड’ प्राप्त करने पर पीएम मोदी को बधाई दी। मुख्यमंत्री ने पीएम मोदी को शॉल और दो पुस्तकें ‘थ्रॉन्स ऑफ द गॉड्स’ व ‘क्राफ्ट्स ऑफ उत्तराखंड’ भेंट की। इसके साथ ही पीएम मोदी को जौनसारी वस्त्र भेंट किया गया।

अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत में विश्व का नेतृत्व करने की क्षमता है, भारत वैश्विक विकास का प्रमुख इंजन बनने वाला है। देश का वित्तीय घाटा कम हुआ, महंगाई दर नियंत्रण में है और मध्यम वर्ग तेजी से बढ़ रहा है। देश की 80 करोड़ जनसंख्या युवा होना डेमोग्राफिक डिविडेंड है। उन्होंने कहा कि जिस रफ्तार और पैमाने पर आर्थिक सुधार हो रहे हैं वो अभूतपूर्व है। प्रधानमंत्री मोदी उत्तराखंड इन्वेस्टर्स समिट-2018 के उद्घाटन समारोह में संबोधित कर रहे थे।

देहरादून के रायपुर स्थित अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में आयोजित समिट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की नामी कंपनियों से उत्तराखंड में निवेश के लिए आह्वान किया। उन्होंने कहा कि इज ऑफ डूइंग बिजनेस (व्यापार करने में आसानी) में 42 अंकों का सुधार हुआ है। 14 सौ से ज्यादा कानून खत्म किए गए हैं। टैक्सेशन में हुए सुधार से बैंकिंग सेक्टर मजबूत हुआ है। जीएसटी ने देश को एक बाजार में तब्दील कर दिया है। उन्होंने कहा कि आधारभूत ढांचा विकास में हम तेज गति से आगे बढ़ रहे हैं। हर दिन 27 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्ग बन रहे हैं। पहले की सरकारों की तुलना में यह दोगुना निर्माण है। चार सौ रेलवे स्टेशनों का आधुनिकीकरण करने के साथ 100 नए एयरपोर्ट और हेलीपेड बन रहे हैं। सौ से ज्यादा नेशनल वाटर वेज बनाए जा रहे हैं। चौतरफा विकास से देश-विदेश के निवेशकों के लिए सर्वोत्तम माहौल है। उन्होंने कहा कि देश, मेक इन इंडिया से आईटी के साथ इलेक्ट्रिक क्षेत्र का हब बन रहा है।

उत्तराखंड में निवेश की अपार संभावनाएं
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि उत्तराखंड में निवेश की असीम संभावनाएं हैं, इस दिशा में त्रिवेंद्र सरकार भरसक प्रयास कर रही है। डेस्टिनेशन उत्तराखंड का मंच इसी की अभिव्यक्ति है। बीते चार वर्ष में एमएसएमई को सशक्त करने के लिए कई कदम उठाए गए। हाल ही में लिए गए फैसले से एमएसएमई में एक करोड़ रुपये तक का ऋण बहुत कम समय में स्वीकृत होगा। ऐसे में उत्तराखंड आने वाले निवेशकों को अब सरकारी दफ्तरों के चक्कर नहीं काटने होंगे।

पर्यटन और फूड प्रोसेसिंग का बनेगा हब
प्रधानमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड में पर्यटन के हर क्षेत्र में संभावनाएं हैं। साहसिक पर्यटन से लेकर तीर्थाटन और मेडिकल टूरिज्म के लिए उपयुक्त माहौल है। 13 जिलों में 13 नए डेस्टिनेशन की पहल से युवाओं के लिए रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। फूड प्रोसेसिंग में सौ प्रतिशत एफडीआई से कृषि और कृषि आधारित व्यापार बढ़ेगा। उन्होंने निवेशकों से इस सेक्टर में सर्वाधिक निवेश का आग्रह किया।

मेडिकल सेक्टर की बदलेगी तस्वीर
पीएम मोदी ने कहा कि आयुष्मान योजना से हेल्थ और मेडिकल सेक्टर में निवेश में संभावना बढ़ी है। छोटे शहरों में अस्पताल, मेडिकल कॉलेज और पैरामेडिकल कॉलेज बनेंगे। योजना से 50 करोड़ से अधिक जनसंख्या लाभांवित होगी। सरकार ने मरीज के इलाज के लिए पेमेंट की तैयारी कर ली है, जिससे निवेशकों को भी बड़ा अवसर मिलेगा।