पैदल चले जिलाधिकारी, अधिकारियों को मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने के दिये निर्देश

रुद्रप्रयाग(चोपता), जनपद के राजस्व, पुलिस, पर्यटन व वन विभाग के अधिकारियों के साथ जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने तुंगनाथ व चोपता क्षेत्र का निरीक्षण किया। विश्व प्रसिद्ध पर्यटक स्थल दुगलबिट्टा में मूलभूत सुविधाओं को उपलब्ध कराने हेतु भारी बर्फबारी के बावजूद पैदल चलकर निरीक्षण किया।

चोपता क्षेत्र में सफाई कर्मियों का वेतन प्रतिमाह न मिलने की शिकायत पर जिला पंचायत के अभियंता को कड़ी फटकार लगाई। कहा कि अपर मुख्य अधिकारी व अभियंता वेतन भी तभी आहरित किया जाएगा जब सफाई कर्मियों का वेतन निकलेगा। जिलाधिकारी ने बताया कि विद्युत विभाग रुद्रप्रयाग व गोपेश्वर द्वारा पोथीबासा से चोपता तथा उषाडा से दुगलबिट्टा तक सर्वे का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। इसके साथ ही बर्फ के पिघलते ही जल संस्थान द्वारा तुंगनाथ क्षेत्र में योजना हेतु सर्वे का कार्य भी किया जाएगा।
जिले में मिनी स्विटरजरलैंड चोपता दुगलबिट्टा में पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं। यहां पर सालभर तक पर्यटकों का आना जाना लगा रहता है, लेकिन सैंचुरी एरिया होने के कारण क्षेत्र का विकास नहीं हो पा रहा है। ऐसे में क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ावा देने के मकसद से जिला प्रशासन ने कार्यवाही शुरू कर दी है।
इससे पूर्व में जिलाधिकारी के निर्देशन में निरीक्षण के दौरान राजस्व व वन विभाग की कितनी भूमि है का आंकलन किया गया था जिससे स्थानीय लोग नियमानुसार परमीशन लेकर अपना व्यवसाय शुरू कर पाएंगे। जिलाधिकारी ने बताया कि कि राजस्व और वन विभाग की भूमि का डिमारकेशन का कार्य किया जा रहा है।