रात में नींद न आने की समस्या से हैं परेशान, तो करे ये सरल उपाए

बढ़ती आयु व कई स्वास्थ्य समस्याओं के चलते अक्सर लोग नींद न आने की कठिनाई का सामना करते है विश्वभर में भी कई लोग नींद न आने की समस्या से ग्रसित है इसे भी एक प्रकार का डिसऑर्डर माना जाता है ये डिसऑर्डर मुख्यता दो प्रकार का होता है पहले प्रकार में ग्रसित लोगो को नींद बेहद आती है व ये हर समय सोने के लिए तैयार रहते है वहीँ दूसरे प्रकार से ग्रसित लोगो में नींद ना आने की समस्या से परेशान पाया गया है साइंस की भाषा में बेहद नींद आने की समस्या को इन्सोमनिया बोला जाता है जबकि नींद ना आने की समस्या आर्थोसोम्निया बोला जाता है. यदि आप भी नींद न आने की समस्या का सामना कर रहे है तो इस आर्टिकल को जरूर पढ़ ले , इसमें हम आपके साथ शेयर करने जा रहे है कुछजरुरी टिप्स जिसे अनुसरण कर आप अपने स्वास्थ्य के साथ साथ नींद न आने की समस्या का भी निवारण पा सकेंगे , तो देर किस बात की है आइये जानते है इन टिप्स के बारे में

1 ) नींद न आने का एक अहम् कारण होता है सोने का समय निर्धारित न होना व ऐसे में आपको जरुरी है की आपके सोने के लिए एक समय का निर्धारण करे. अक्सर नाईट शिफ्ट में कार्य करने वाले लोगो में ये समस्या पायी गयी है. आप सभी जानते है की हमारे शरीर में एक बॉडी क्लॉक होता है जो हमें समय समय पर भूख लगने कार्य करने के लिए प्रेरित करता है इस क्लॉक को सेट करने के लिए जरुरी होता है की हम कुछ दिनों तक रोज़ उस कार्य को एक समय पर करे. अच्छा उसी प्रकार नींद आने केलिए आपको अपने इस बॉडी क्लॉक को सेट करने की जरुरत है व कुछ ही दिनों में आपको फर्क दिखने लगेगा.

2 ) जब आप रात्रि में सोने जाना चाहते है उसके कुछ समय पहले से मोबाइल फ़ोन, टीवी आदि से दुरी बना ले व मैडिटेशन या ध्यान करने या फिर बुक पड़ने में मन लगाए. ध्यान दे की ऐसा करते समय आपका मन शांत भाव में आ जाना चाहिए जिससे की आपको नींद आने में सरलता होगी. इसके लिए तेज गीत संगीत या कोई ऐसी वस्तु न करे जो आपके दिमाग को जागे रखने का कार्य करे.

3 ) पर्याप्त व अच्छी नींद के लिए सबसे ज्यादा जरुरी है शरीर का थकना, जिससे नींद आती है ऐसा करने के लिए आपको अपनी शारीरिक क्रियाओ को बढ़ाना होगा व सोने से पहले कुछ एक्सरसाइज़ का भी सहारा ले सकते है. ऐसा करने से पहले ध्यान रखे कि आप उन्ही एक्सरसाइज़ को करे इन्हे करने से पेट पर ज्यादा दबाव ना पड़े क्योकि खाना खाने के बाद पेट पर दबाव पड़ने से उलटी हो सकती है. हलकी एक्सरसाइज़ के लिए आप ताड़ासन , स्ट्रेचिंग, गर्दन को गोलाकार घूमना व स्काउट्स आदि कर सकते है. ध्यान देने वाली ये है कि इन एक्सरसाइज़ के बाद आखिरी में आप बिस्तर में लेटकर शवासन की मुद्रा में लेट जाए व धीरे धीरे सांस लेने व छोड़ने की किया करे ऐसा करने से आपको लाभ होगा.

4 ) सोते समय अपने रूम के तापमान का भी विशेष ध्यान रखे , अधिक गर्म या अधिक ठंडा तापमान होने से भी नींद ना आने की समस्या हो सकती है। ऐसा होने पर आवश्यकतानुसार रूम तापमान को बढ़ा या घटाकर अनुकूल बनाये.

5 ) रात में सोते समय ध्यान दे कि कोई रोशनी की रौशनी या कोई तेज प्रकाश कमरे में न आ रहा हो , ऐसा होने पर भी सोने में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है.

6 ) जिन लोगो को नींद के लिए बहुत परेशानी होती है उन लोगो को सोने से पहले मैडिटेशन करने की सलाह दी जाती है. मैडिटेशन करते समय इस बात पर ध्यान दे की आपका अपना सारा तनाव भूलकर अपने दिमाग में हल्का महसूस करने की प्रयास करे. साथ ही मैडिटेशन में ध्यान करे की दिव्य शक्ति आपके सारे तनाव को दूर कर रही है व बिलकुल हलके हो गए है. ऐसा कर आप आराम से सो सकते है.

7 ) अगर रात में सोते समय आपकी नींद बार – बार टूट जाती है तो फिर से सोने का कोशिश करे व अगर फिर भी नींद न आये तो गहरी सांस ले व धीरे धीरे छोड़े ऐसा तब तक करे जब तक आपको नींद नहीं आने लगे , ये एक वैज्ञानिक विधि है जिसे कारगार माना गया है

8 ) नींद लाने के लिए कभी भी गोलियों का सेवन ना करे क्योकि लम्बे समय तक गोलियों के सेवन से बाद में इसके दुष्परिणाम देखने को मिलते है इसलिए थोड़ी देर के राहत के लिए बाद में दुष्परिणाम को ना देखे.

इन सभी तरीकों को अपने जीवनशैली में शामिल करने से तुरंत तो आराम नहीं लगेगा लेकिन कुछ समय बाद धीरे-धीरे आपको आराम मिलने लगेगा व 2-3 बार के कोशिश में ही आपको बेहतर परिणाम देखने मिल सकते है. उम्मीद है हमारे ये सुझाव आपको पसंद आये होंगे व आपको सेहतमं बनाये रखने में कार्य भी आएंगे.