चक्रवाती तूफान ‘वायु’ को लेकर गृहमंत्री शाह ने की एक उच्च स्तरीय बैठक

18

नई दिल्ली: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को चक्रवात ‘वायु’ के कारण बनें हालात से निपटने के लिए संबंधित राज्य और केंद्रीय मंत्रालयों/एजेंसियों की तैयारियों की समीक्षा के लिए एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की। इस बैठक ने गृह मंत्री अमित शाह ने वरिष्ठ अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के लिए संभव उपाय करने के लिए निर्देशित किया कि लोगों की सुरक्षा के लिए हर संभव प्रयास किए जाए।

गृहमंत्री ने इसके अलावा नियंत्रण कक्ष को 24 घंटे लगातार कामकाज के लिए भी निर्देशित किया। भारतीय तटरक्षक बल, सेना और नौसेना को हवाई निगरानी करने के लिए स्टैंडबाय पर रखा गया है। स्थिती की निगरानी के लिए विमानों और हेलीकॉप्टरों को भी लगाया गया है।

मौसम विभाग ने कोंकण और गोवा में 11 जून के लिए भारी बरसात की पीली, 12 जून के लिए नारंगी और 13 जून के लिए पीली चेतावनी जारी की हुई है। गुजरात के सौराष्ट्र और कच्छ के लिए 12 जून को भारी बरसात की पीली और 13 जून को लाल रंग की चेतावनी (रेड अलर्ट) जारी की गई है।

मौसम विभाग ने दक्षिणी गुजरात क्षेत्र के लिए भी 12 और 13 जून को चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग जब पीले रंग की चेतावनी जारी करता है तो उसका अर्थ हर घटना से अपडेट रहना होता है, नारंगी चेतावनी का अर्थ किसी भी स्थिति से निपटने की तैयारी और रेड अलर्ट का अर्थ बिना समय गंवाए सुरक्षित जगह पर पहुंचना होता है।