बांग्लादेश में भारी तबाही, 6 की मौत, 36 लापता

24

ढाका, रायटर। चक्रवाती तूफान बुलबुल (Cyclone Bulbul) ने बांग्लादेश में भारी तबाही मचाई है। तूफान की चपेट में आने से छह लोगों की मौत हो गई है, जबकि 36 मछुआरों के लापता होने की खबर है। अधिकारियों ने रविवार को बताया कि फूफान से पहले ही लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया था, जिसकी वजह से कम लोगों की जान गई।

प्रशासन के मुताबिक चक्रवात बुलबुल की वजह से लगभग 30 लोगों घायल हुए हैं और 6 हजार से ज्यादा घरों को भारी नुकसान पहुंचा है। मारे गए छह में से पांच लोगों की मौत पेड़ों के गिरने की वजह से हुई है। जिन लोगों की मौत हुई है उनमें एक 52 साल की महिला भी शामिल है, जो शनिवार रात को पूफान से बचने के लिए शेल्टर होम में रुकी हुई थी और रविवार को अपने घर पर थी जब पेड़ गिरने से उसकी मौत हो गई। दक्षिणी भोला जिले के एक स्थानीय निवासी ने बताया कि मछली पकड़ने गई दो नौकाएं अभी भी लापता हैं। परिवार के लोग नवा में मौजूद लोगों से संपर्क भी नहीं हो पा रहा है। दक्षिण-पूर्व बांग्लादेश के शिविरों में किसी बड़े नुकसान की फिलहाल कोई खबर नहीं है, जहां पड़ोसी देश म्यांमार के हजारों शरणार्थी रह रहे हैं।

अधिकारियों के मुताबिक फूफान के वक्त हवा की गति 100 से 120 किमी प्रति घंटे के बीच तक थी। भारी बरिश की वजह से कुछ निचले तटीय क्षेत्रों में बाढ़ आ गई है। फिलहाल हवा की गति अब घटकर 70 से 80 किमी प्रति घंटे तक हो गई है।

आपदा प्रबंधन और राहत के मंत्री एनामुर रहमान ने रॉयटर्स को बताया कि फिलहाल सामान्य स्थिति होने में कुछ दिन का समय लगेगा। उन्होंने बताया कि लगभग 1200 घरेलू पर्यटक कॉक्स बाजार जिले में सेंट मार्टिन द्वीप पर फंस गए थे। उन सभी लोगों को जल्द बचा लिया जाएगा।