राम मंदिर बाबरी मस्जिद विवाद की सुनवाई पूरी, 23 दिन में सुप्रीम कोर्ट सुनाएगा फैसला

17

नई दिल्ली, सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को 40 दिन की बहस और दलीलों के साथ ही अयोध्या मामले में सुनवाई पूरी हो गई। सुप्रीम कोर्ट इस मामले में 23 दिन में अपना फैसला सुनाएगा। सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई 17 नवंबर को सेवानिवृत्त हो रहे हैं और उनके सेवानिवृत्त होने से पहले अयोध्या मामले में फैसला आ जाएगा। राम मंदिर-बाबरी मस्जिद विवाद पर 40 दिनों तक चली मैराथन सुनवाई बुधवार को पूरी हो गई और ऐसा माना जा रहा है कि सुप्रीम कोर्ट अपना फ़ैसला नवंबर में सुनाएगा क्योंकि मुख्य न्यायाधीश जस्टिस रंजन गोगोई 17 नवंबर को रिटायर हो रहे हैं.

यह ऐतिहासिक फ़ैसला होगा. राजनीतिक रूप से बेहद संवेदनशील राम मंदिर और बाबरी मस्जिद की ज़मीन के मालिकाना हक़ पर विवाद है.

आख़िरी सुनवाई के एक दिन पहले जस्टिस गोगोई ने कहा था कि बुधवार की शाम पाँच बजे तक सुनवाई पूरी हो जाएगी लेकिन बुधवार को एक घंटे पहले ही सुनवाई पूरी करने की घोषणा कर दी गई.

साथ ही अदालत ने ये भी कहा कि अगर दलीलें बाक़ी हों तो संबंधित पक्ष तीन दिन के भीतर लिखित रूप में दे सकते हैं.