राज्यपाल ने शिवसेना को नहीं दिया समय, अब NCP को दिया सरकार बनाने का न्योता

20

एनसीपी के नेता नवाब मलिक ने कहा कि राज्यपाल ने हमारे नेता को बुलाया है। ऐसा लगता है सरकार बनाने को लेकर बुलाया गया है। हमारे नेता उनसे मिलने गए हैं। उन्होंने कहा कि शिवसेना के साथ सरकार बनाने का फैसला हम कांग्रेस से चर्चा करने के बाद लेंगे।

महाराष्‍ट्र में सरकार गठन के लिए तैयारी तेज हो गई है। भाजपा द्ववारा सरकार गठन से मना करने पर शिवसेना ने सरकार गठन की तैयारी तेज कर दी है। सोमवार को राजनीतिक घटनाक्रम काफी तेजी से बदला। एनसीपी की मांग पर शिवसेना एनडीए गठबंधन से बाहर निकल आई। इसके लिए उसके केंद्र सरकार में मंत्री अरविंद सावंत ने इस्‍तीफा दे दिया। वहीं शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे और एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने सरकार गठन के लिए बातचीत की। सरकार गठन को लेकर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने टेलीफोन पर बातचीत की।राजभवन की तरफ से बयान जारी- शिवसेना के प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल से मुलाकात की और सरकार बनाने की इच्छा जाहिर की। हालांकि वह समर्थन का पत्र नहीं सौंप सके। शिवसेना ने समर्थन का पत्र सौंपने के लिए तीन दिन का वक्त मांगा। हालांकि राज्यपाल ने और समय देने में असमर्थता जाहिर की।

ट्विटर पे भी ये खबर ट्रेंड कर रही है !

आदित्य ठाकरे ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि राज्यपाल ने हमें 48 घंटे का समय देने से इनकार किया है। हालांकि हमारा दावा अभी भी बरकरार है और अभी भी हमारे पास थोड़ा समय है। हम अभी भी महाराष्ट्र को ईमानदार और सच्चाई से भरपूर सरकार देने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हमने 24 घंटे के भीतर राज्यपाल से मुलाकात की है।

हम अभी भी सरकार बनाने की इच्छा रखते हैं। दूसरी पार्टियों से बातचीत चल रही है। राज्यपाल ने लिखित में कुछ नहीं कहा है, इसलिए हमारी कोशिशें जारी हैं।