कोरोना संक्रमण काल में श्रमिकों का 50 लाख का बीमा कराये सरकार: चोपडा

हरिद्वार 22 जुलाई (कुल भूषण शर्मा) उत्तराखंड के सभी सिडकुल क्षेत्र में फैक्ट्री प्रबंधकों द्वारा किया श्रमिक कानूनों के उल्लंघन व श्रमिकों के शोषण व उत्पीड़न के खिलाफ श्रमिक कल्याण परिषद के अध्यक्ष, उत्तराखंड शासन श्रम बोर्ड के सदस्य संजय चोपड़ा ने उत्तराखंड सरकार श्रम, सेवायोजन मंत्री डॉ हरक सिंह रावत को पत्र लिखकर मांग की कोविड-19 के दृष्टिगत अनलॉक अवधि के दौरान आए दिन श्रमिकों  के साथ शोषण व उत्पीड़न के साथ केंद्रीय आपदा प्रबंधन मानकों के उल्लंघन कोविड-19 से बचाव के संसाधनों का इस्तेमाल व रख-रखाव उचित रूप से ना किये जाने के कारण फैक्ट्रीयों में श्रमिक हो रहे हैं करोना से संक्रमित। श्रमिकों को राज्य सरकार के संरक्षण में श्रमिक कानूनों को क्रियान्वयन करने के साथ कोरोना से बचाव के संसाधनो मुंह पर मास्क, सैनिटाइजर, हाथों में दस्ताने, थर्मल स्क्रीनिंग इत्यादि बचाओ के संसाधनों के साथ प्रत्येक श्रमिक का 50 लाख का बीमा योजना बनाए राज्य सरकार।

 

संजय चोपड़ा ने कहा उत्तराखंड के फैक्ट्री प्रबंधकों द्वारा आए दिन श्रमिकों के शोषण व उत्पीड़न की घटनाएं बढ़ती जा रही है और कोविड-19 के दृष्टिगत कोरोना के बचाव के संसाधनों का पूर्ण रुप से पालन ना होने के कारण श्रमिक, मजदूर हो रहे हैं कोरोना संक्रमित। राज्य सरकार द्वारा आए दिन श्रमिकों के साथ इन्हीं घटना क्रमों के दृष्टिगत उत्तराखंड शासन के प्रमुख सचिव श्रम व श्रम आयुक्त के साथ श्रमिक संगठनों के प्रतिनिधियों को सम्मलित व संयुक्त समिति का गठन कर समस्त फैक्ट्रियों में मौके पर जाकर किया जाए निरीक्षण ताकि आए दिन हो रहे श्रमिकों के शोषण व उत्पीड़न के साथ श्रम कानूनों के क्रियान्वयन से श्रमिकों को मिल सके राज्य सरकार का संरक्षण। उन्होंने यह भी कहा राज्य सरकार को प्राथमिकता के आधार पर उप श्रम आयुक्त के कार्यालय में पंजीकृत श्रमिको को उनकी आजीविका को दृष्टिगत रखते हुए माह के अंतिम सप्ताह में श्रमिक कानूनों की वर्तमान स्थिति की समीक्षा रिपोर्ट सरकार को प्रस्तुत की जाए। चोपड़ा ने यह भी कहा कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए श्रमिकों की सुरक्षा के साथ 50 लाख का प्रत्येक श्रमिको की बीमा योजना बनाया जाना न्यायसंगत होगा ताकि श्रमिक अपने एक बड़े विश्वास के साथ अपना श्रम कार्य करते रहें।