प्रतिबंधित इलाकों में शासकीय कार्यालय रहेंगे बंद : जिलाधिकारी

कार्यालयों में फिलहाल शासकीय कार्य होंगे, पब्लिक को प्रवेश की अनुमति नहीं

देहरादून। जिले में आज से सरकारी दफ्तर खुल जांएगे। लेकिन, इनमें पब्लिक को प्रवेश की अनुमति नहीं होगी। कार्यालयों में फिलहाल शासकीय कार्य किए जाएंगे। अगर बाहरी व्यक्ति से संपर्क जरूरी है तो उसे कार्यालय बुलाने के बजाए ई-मेल पर दस्तावेज मंगवाए जाएंगे या कार्यालय के बाहर ड्राप बॉक्स में दस्तावेज डालने तक वह आ पाएंगे। जिलाधिकारी डा. आशीष श्रीवास्तव ने जिले के ऑरेंज जोन में होने के हिसाब से सरकारी कार्यालयों को खेलने के दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं। कार्यालय में सभी अफसर आ सकेंगे, लेकिन कर्मचारी रोटेशन के हिसाब से 33 फीसदी से अधिक नहीं बुलाए जाएंगे। डीएम ने बताया कि जिले के प्रतिबंधित इलाकों में कोई भी गतिविधि नहीं बदलेंगी। वहां कोई शासकीय कार्यालय है तो वह बंद रहेगा।
प्रतिबंधित इलाके
1- भगत सिंह कॉलोनी, 2- कारगी ग्रांट, 3- लक्खीबाग, 4- आजादा कॉलोनी, 5-चमन विहार गली नंबर 11, 6- झबरावाला, 7- केशवपुर बस्ती, 8- बीस बीघा गली नंबर-3, 9- शिवा एनक्लेव वार्ड 24 10- आवास विकास कॉलोनी वार्ड 25
अधिकारी साथ लाएं चाय-पानी
शासकीय दफ्तरों में कैंटीन या कार्यालय में चाय बनाने का काम नहीं होगा। डीएम ने आदेश दिया है कि अधिकारी चाय और पानी की व्यवस्था अपने साथ घर से करके लाएंगे। कर्मचारी लंच में इकट्ठा नहीं होंगे। आपस में इकट्ठा होकर बातचीत पर भी रोक लगाई गई है।
प्रमुख सावधानियांः
– कार्यालयों के कार्मिकों के लिए विभाग प्रमुख जारी करेंगे पास।
– सुबह नौ से दस और शाम को साढ़े तीन से चार बजे के बीच आवाजाही की छूट।
– दो कर्मचारियों के बैठने की दूरी कम से कम छह फीट होनी चाहिए।
– हर रोज कम से कम एक बार सरकारी कार्यालय पूरी तरह सेनेटाइज होंगे। कार्यालय प्रयोग के उपकरण दो बार सेनेटाइज होंगे।
– पानी के टैंक खाली कर दोबारा भरे जाएंगे। पानी के आरओ की सर्विस कराई जाएगी।
– कार्यालयों के प्रवेश द्वार पर सेनेटाइजर या हैंड वॉश की सुविधा होगी।
– लिफ्ट के बजाए सीढ़ियों के प्रयोग को वरियता दी जाएगी।
– गर्भवती महिला या ऐसी महिला जिनका बच्चा 10 वर्ष से छोटा हैं, उन्होंने अपरिहार्य स्थिति में बुलाया जाएगा।
– मास्क लगाना या फेस कबर करना जरूरी होगा।
– आरोग्य सेतू एप सभी के मोबाइल में हो।