अच्छी खबर : भारत की अपनी कोरोना वैक्सीन, ‘कोविशील्ड’ और ‘कोवैक्सीन’ को DCGI ने दी मंजूरी, जानिए बोर्ड ने क्या कहा ..

नई दिल्ली, वैश्विक कोरोना महामारी से निपटने के लिए भारत में वैक्सीन का इंतजार अब खत्म हो गया है, ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने भारत में कोरोना वैक्सीन को मंजूरी दे दी है | सीरम इंस्टीट्यूट की ‘कोविशील्ड’ और भारत बायोटेक की ‘कोवैक्सीन’ को इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दी गई है, एक दिन पहले ही सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड ऑर्गेनाइजेशन की सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी ने डीसीजीआई के पास भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की कोरोना वैक्सीन को अनुमति देने की सिफारिश की थी |

DCGI का बड़ा ऐलान, दो कोरोना वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी’

डीसीजीआई के आला अधिकारियों के मुताबिक, ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया जब किसी दवा या ड्रग को अनुमति देता है तो उस कंपनी को CT23 यानी अनुमति मिलती है.

इसके मिलने के बाद दवा कंपनी की जिस राज्य में फैक्ट्री होती है वहां स्टेट ड्रग रेगुलेटरी अथॉरिटी से जाकर ड्रग एंडोर्समेंट की मांग करती है | इसके बाद वो दवा या वैक्सीन रोल आउट होती है, जानकारों के मुताबिक इस प्रक्रिया में 4 से 5 दिन लग सकते है |

पीएम मोदी ने अपने दूसरे ट्वीट में कहा, ”देश के नागरिकों के लिए गर्व की बात है कि जिन दोनों वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल को मंजूरी दी गई है उनका निर्माण भारत में ही हुआ है। यह दिखाता है कि आत्मनिर्भर भारत बनाने की मुहिम में देश के वैज्ञानिक कितनी मेहनत कर रहे हैं।”