जीनाम्स ड्रेस लिमिटेड कैपिटल मार्केट में प्रवेश करने के लिए तैयार

4
देहरादून। सूरत स्थित जीनाम्स ड्रेस लिमिटेड, महिलाओं के वस्त्रों की डिजाइन, निर्माण एवं कई सारे ब्रांड्स के साथ विविध उत्पाद पोर्टफोलियो में इन वस्त्रों की मार्केटिंग का व्यवसाय करती है। यह कंपनी 10 रुपये प्रत्येक के, 59ध्0 रुपये मूल्य के 72 लाख इक्विटी शेयर के आईपीओ के साथ पूंजी बाजार में प्रवेश कर रही है। कंपनी के शेयर बीएसई एसएमई पर सूचीबद्ध होंगे। इस इशू के लिए एकमात्र लीड मैनेजर एसएमसी कैपिटल लिमिटेड और मार्केट मेकर एनएनएम सिक्योरिटीज प्राइवेट लिमिटेड है और एनएनएम नेक्स्टजेन एडवाइजरी प्राइवेट लिमिटेड इस इशू का सलाहकार है।
यह इशू 9 अप्रैल 2019 को खुलता है और 15 अप्रैल 2019 को बंद होता है। आईपीओ के साथ आने का कंपनी का मुख्य उद्देश्य मशीनों की खरीदी, लॉन्ग टर्म वर्किंग कैपिटल को बढ़ाना और ऋण को कम करना है। कंपनी ने 19 राज्यों और 4 केंद्र शासित प्रदेशों में व्यापक वितरण नेटवर्क स्थापित किया है और अपने ब्रांड जैसे ‘‘जीनाम’’, ‘‘फ्लोरल क्रिएशन’’, ‘‘रोमा’’ इत्यादि को बाजार में स्थापित किया है। जीनाम में 200 से अधिक कर्मचारियों के साथ एकीकृत विनिर्माण सुविधा है और इसमें 45 से अधिक कर्मचारियों की इन हाउस डिजाइन टीम है। कंपनी का इरादा रिटेल स्पेस में आने और डिजिटल प्रिंटिंग स्पेस में प्रोडक्ट डायवर्सिफिकेशन के जरिए ब्रांड विजिबिलिटी पर फोकस करना है।
कंपनी का नेट प्रॉफिट क्रमशः वित्त वर्ष 2016 से वित्त वर्ष 2018 तक के आधार पर 213.57 लाख से बढ़कर 782.11 लाख हो गया। वित्त वर्ष 2016 से वित्त वर्ष 2018 तक परिचालन से राजस्व क्रमशः 13631.96 लाख रुपये से 15289.06 लाख रुपये बढ़ गया। हमारा ईबीआईटीडीए 1078.34 लाख से बढ़कर 2007.17 लाख हो गया है। महिलओं के लिए कंपनी द्वार इंडियन एथिनिक और फ्यूजन वियर की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान की जाती है जिसमें श्लेहेंगा-चोलीश्, श्कुर्तीश्, श्दुपट्टाश्, ‘स्कार्फ’ और विभिन्न वस्त्र जैसे साटन, जोर्जट, शिफॉन, वेलवेट, पॉलिएस्टर,कॉटन, सिल्क, ऊन आदि शामिल हैं। कंपनी नियमित अंतराल पर नए डिजाइनों को विकसित करने और पेश करने पर अपना ध्यान केंद्रित करती है।  वित्त वर्ष 2017-18 के दौरान कंपनी ने लगभग 134 प्रोडक्ट कैटलॉग पेश किए हैं, जिनमें से प्रत्येक में लगभग 8-10 डिजाइन शामिल हैं।
जेडीएल का डिस्ट्रीब्यूशन चौनल वर्तमान में गुजरात, पंजाब, हरियाणा, महाराष्ट्र, कर्नाटक, पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश, केरल, उत्तर प्रदेश आदि राज्यों को कवर करता है। यह यूके, दुबई, नेपाल, पाकिस्तान, अफगानिस्तान और मॉरीशस जैसे देशों के अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में भी निर्यात करता है।