राष्ट्रीय बैठक में सांसद अल्मोड़ा अजय टम्टा ने पर्यावरण संस्थान को शोध एवं विकास कार्यों हेतु दिये महत्वपूर्ण सुझाव

(अशोक पांडेय)

अल्मोड़ा, गोविन्द बल्लभ पंत राष्ट्रीय हिमालयी पर्यावरण संस्थान, कोसी-कटारमल (अल्मोड़ा) की राष्ट्रीय समिति की दिनाँक 2 अगस्त को पर्यावरण मन्त्रालय, नई दिल्ली में माननीय राज्य मंत्री श्री अश्विनी कुमार चौंबे जी की अध्यक्षता में 23 वीं बैठक सम्मपन्न हुई। इस बैठक में अल्मोड़ा के सांसद माननीय अजय टम्टा जी ने प्रतिभाग किया एवं संस्थान के शोध कार्यों हेतु महत्वूपर्ण सुझाव दिये। संस्थान के निदेशक डा0 सुनील नौटियाल ने कल दिल्ली से लौटकर इसकी विस्तृत जानकारी दी एवं बताया कि सांसद अल्मोड़ा ने उच्च हिमालयी क्षेत्रों में हो रहे यारसा गम्बू (कीड़ा जड़ी) के अवैज्ञानिक दोहन पर चिन्ता जताई। एवं अपेक्षा की कि संस्थान इस दिशा में शोधकार्य के नतीजे से वैज्ञानिक दोहन के समाधान प्रस्तुत करे। उन्होने पर्वतीय क्षेत्रों में रेशेदार पौधों जैसे भीमल, अलसी, भांग आदि के रेसे से कपड़ा आदि बनाने की अपार सम्भावना जताई एवं इस संबंध में उनके द्वारा शुरू किये गये निट्रा (गाजियाबाद) के माध्यम से किये जा रहे प्रयासों में तेजी लाने की बात कही। उन्होने चीड़ वनों में प्रतिवर्ष अग्नि की समस्या से निबटने हेतु संस्थान द्वारा पिरूल से बनाये जा रहे उत्पादों -धूम्ररहित कोयला, गत्ता, कागज से निर्मित फाईल कवर आदि की प्रशंशा करते हुए कहा कि पिरूल के उपयोग हेतु चीड़ बाहुल्य क्षेत्रों में स्थानीय स्तर पर ही इनके उत्पाद बनने चाहिए जिससे वनों में अग्नि की रोकथाम के साथ-साथ स्थानीय महिलाओं व ग्रामीणों को रोजगार भी मिल सके। इसके लिए चीड़ की पत्तियों की थ्रेसिंग इकाइयाँ विकेन्द्रीकृत रूप से लगानी होगी। उन्होने इस कार्य हेतु वन विभाग से सहयोग लेने का सुझाव दिया। संस्थान के निदेशक डा0 नौटियाल ने अपने प्रस्तुतीकरण में उक्त मुद्दों पर किये जा रहे है शोध कार्य से बैठक में सदस्यों को अवगत कराया एवं कहा कि संस्थान इन बहुमूल्य सुझावों पर यथा शक्ति अमल करेगा। इस बैठक में उपस्थित सभी माननीय सदस्यों में क्रमशः पश्चिम बंगाल की वन मन्त्री बीरबाहा हसदा, सचिव पर्यावरण मन्त्रालय लीला नंदन, सयुक्त सचिव श्री वाजपेयी, प्रो0 वी0के0 गौड़, पूर्व वन प्रमुख आर0बी0एस0 रावत, महानिदेशक भारतीय वन अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद डा0 अरूण रावत, देहरादून, डा0 माओ, निदेशक भारतीय वनस्पति सर्वेंक्षण संस्थान कोलकत्ता, आदि उपस्थित रहे।

 

 

आजादी का अमृत महोत्सव : जिले में 60000 झंडों का वितरण करेगी भाजपा : जिला अध्यक्ष रवि रौतेला

(अशोक पांडेय)

अल्मोड़ा, भारतीय जनता पार्टी आजादी के अमृत महोत्सव के ऐतिहासिक अवसर पर कार्यकर्ता एवं विधायक, सांसद, जनप्रतिनिधियों के सहयोग से अल्मोड़ा जिले में 60000 झंड़ों का वितरण करेगी, उक्त जानकारी देते हुये भाजपा के जिला अध्यक्ष रवि रौतेला ने
कहा कि आजादी का 75 वर्ष एक ऐतिहासिक अवसर है जिसमें हमें कार्य करने का शुभ अवसर प्रदान हो रहा है और उससे भी बड़ा और महत्वपूर्ण विषय यह है कि इस समय देश का नेतृत्व एक ऐसे नेता नरेन्द्र मोदी कर रहे हैं जो राष्ट्र प्रथम की भावनाओं को लेकर कार्य करते हैं | आज देश निरंतर प्रगति के पथ पर आगे बढ़ रहा है और आजादी का 75 वाँ वर्ष मनाना हर देशवासियों के लिए गौरव का पल है आज हम उन सब आजादी के वीरों को नमन करते हैं जिन्होंने अपना सर्वस्व बलिदान कर देश की आजादी की लड़ाई लड़ी इस तिरंगे की आन बान शान के लिए अपनी जान की भी परवाह नहीं थी और अपना सर्वोच्च बलिदान देकर देश को आजादी दिला गए आज भी इस तिरंगे की आन बान शान के लिए बॉर्डर पर हमारे वीर जवान लगातार दिन रात खड़े रहते हैं और अपनी जान की बाजी की परवाह किए बिना दुश्मनों को मुंहतोड़ जवाब देते हैं इसलिए हम सब का कर्तव्य है कि हम इस ऐतिहासिक अवसर पर अपने अपने घरों पर तिरंगे को लहराए और उन सब वीर जवानों के लिए कृतज्ञता प्रकट करें जिन्होंने अपने घर परिवार से ज्यादा इस देश को माना है भारतीय जनता पार्टी के हर कार्यकर्ता का फर्ज होता है कि हम हर उस व्यक्ति तक पहुंचने का प्रयास करें जो अपने को आज भी पिछली पंक्ति का मानता है उन्होंने कहा कि आज मोदी सरकार ने तिरंगे को फहराने को लेकर कई रियायतें दी हैं जिससे आम आदमी बड़ी आसानी से ध्वजारोहण कर सकता है उन्होंने कहा कि 13 से 15 अगस्त तक हर घर में झंडा फहरे इसके लिए भारतीय जनता पार्टी के जिला, मण्डल, शक्तिकेंद एवं बूथ स्तर तक के कार्यकर्ता को पूर्ण मनोयोग से कार्य करना होगा जिससे हर घर तिरंगा अभियान सफल हो सके उन्होंने कहा कि इन तिरंगों का मूल्य बेहद कम रखा गया है कि हर कोई इसे खरीद कर अपने घरों में लगा सकता है आज हर व्यक्ति को यह जानने का अधिकार है की 9 साल की कानूनी लड़ाई के बाद नवीन जिंदल के प्रयासों से 2002 में देश के हर नागरिक को झंडा फहराने का अधिकार प्राप्त हुआ इससे पूर्व सरकारी कार्यालय व शिक्षण संस्थानों में ही झंडा फहराने की अनुमति थी आज पिंगली वैंकेया जी को भी याद करने का समय है जिन्होंने इस तिरंगे झंडे को डिजाइन किया और मोदी सरकार ऐसे तमाम लोगों को याद कर रही है और उन्हें सम्मानित कर रही है जिन्होंने किसी ना किसी रूप में देश के लिए अपने को बलिदान किया उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी प्रदेश नेतृत्व के निर्देश पर हर घर तिरंगा अभियान के लिए जिला स्तर पर संयोजक एवं सहसंयोजक की टोली का गठन किया गया है जो इस कार्यक्रम को पूरे जिले में संचालित करेंगे, और इसी प्रकार जनपद के सभी 23 मंडलो में संयोजक एवं सहसंयोजक का गठन एवं शक्तिकेंद्र व जिले के सभी 911 बूथों पर भी कार्यक्रम संयोजक व सहसंयोजक इस कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु बनाए गए हैं , इस कार्यक्रम हेतु जिले में जिलामहामंत्री प्रेम शर्मा को संयोजक व उनके सहयोगी के रुप में राजेंद्र कैड़ा, विनीत बिष्ट, संदीप भोज, गोविंद मटेला व पूनम पालीवाल को जिम्मेदारी दी गयी है उन्होंने कहा कि सभी कार्यकर्ता पूर्ण मनोयोग से इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए अपना पूर्ण योगदान प्रदान करें और हर घर में तिरंगा लगाना सुनिश्चित करें ,जिले के 60000 हजार मकानों में झंडा लगाने के लिए भरसक प्रयास करें दलगत राजनीति से ऊपर उठकर सभी लोगों को इस कार्यक्रम को सफल बनाना चाहिए व अपने घरों में 13 अगस्त से 15 अगस्त तक झंडा फहराने का कार्य करना चाहिए |