लापता बच्ची का मिला शव, रेप के बाद बेरहमी से की गई थी हत्या

28

सेक्टर-65 थाना एरिया में तीन साल की मासूम से रेप के बाद हत्या का मामला सामने आया है। पोस्टमार्टम में पता चला है कि सिर में किसी हथियार से वार कर हत्या की गई। सड़क किनारे सोमवार सुबह नग्न हालत में बच्ची का शव मिला था। इसके बाद इलाके के लोग स्तब्ध हैं। इस जगह पर यह पहली घटना नहीं है। पांच साल पहले भी यहां एक मासूम से ऐसी ही बर्बरता की गई थी जिसका इलाज अब भी चल रहा है।

2013 में सिकंदरपुर के पास किसी ने रेप के बाद बच्ची को सड़क किनारे फेंक दिया था। उस समय उसकी हालत काफी गंभीर थी। पांच साल बाद भी उसकी सर्जरी का सिलसिला जारी है। अभी तक भी वह पूरी तरह स्वस्थ नहीं हुई है। इस मामले में अब तक आरोपित पुलिस की गिरफ्त से दूर है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, सोमवार सुबह करीब 9 बजे सूचना मिली कि सेक्टर-66 एरिया में सड़क किनारे बच्ची का शव मिला है। सूचना मिलते ही सेक्टर-65 थाना पुलिस मौके पर पहुंची। नग्न हालत में बच्ची का शव पड़ा था। उसके साथ रेप किया गया और फिर सिर में किसी हथियार से वार कर हत्या की गई। गला भी दबाया गया था। उसके गले पर भी निशान पाए गए। आसपास के एरिया के लोगों से पूछताछ की गई तो सामने आया कि पास ही एम्मार कंपनी की बिल्डिंग के पास बसी झुग्गियों में ही बच्ची रहती थी। उसके माता-पिता मूलरूप से पश्चिम बंगाल के रहने वाले हैं और यहां झुग्गी में रहकर मजदूरी करते हैं। बच्ची के माता-पिता ने बताया कि रविवार दोपहर करीब 12 बजे से बच्ची लापता थी।

आसपास के एरिया में उसकी लगातार तलाश कर रहे थे, लेकिन वह कहीं नहीं मिली। सोमवार सुबह उसके शव की सूचना मिली। उन्होंने शक जताया कि रविवार दोपहर से ही पास की झुग्गी में रहने वाला युवक भी लापता है। झुग्गी में उसकी दो बहनें रहती हैं। यूपी से वह 4-5 दिन पहले ही बहनों के पास आया था। उसी पर बच्ची के साथ रेप के बाद हत्या करने का शक जताया गया है। पीड़ित माता-पिता की शिकायत पर रेप और हत्या का मामला दर्ज किया गया है। सेक्टर-65 थाना प्रभारी सतबीर ने बताया कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में रेप की पुष्टि हुई है। माना जा रहा है कि रेप के बाद हत्या की वारदात को अंजाम दिया गया। युवक के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। थाना पुलिस के अलावा क्राइम ब्रांच की कुल 4 टीमें जांच में जुटी हैं। जल्द ही युवक को अरेस्ट कर लिया जाएगा।

8 जनवरी बच्ची से हुआ था रेप
इसी साल 8 जनवरी की शाम को भी राजीव नगर एरिया से 5 साल की मासूम का अपहरण कर रेप किया गया था। रातभर आरोपित ने मासूम को अपने पास रखकर रेप किया और अगली सुबह उसके घर के पास छोड़ दिया। 10 महीने से अधिक समय बीत चुके हैं, लेकिन पुलिस के हाथ खाली हैं।

इस साल पॉक्सो ऐक्ट के 100 से अधिक मामले
गुड़गांव में नाबालिग बच्चों से रेप, यौन उत्पीड़न के 100 से अधिक मामले इस साल अब तक सामने आ चुके हैं। हर महीने औसतन 8-10 मामले पॉक्सो ऐक्ट के तहत सामने आ रहे हैं। इनमें अधिकतर में पुलिस आरोपितों को अरेस्ट कर चुकी है। कई संगीन मामले ऐसे हैं, जिनमें आरोपी पकड़े नहीं जा सके हैं।