बिना अन्न ग्रहण किये कार्य पर रहकर विरोध जताया कर्मचारियों ने

हरिद्वार 24 सितम्बर (कुल भूषण शर्मा) चतुर्थ श्रेणी राज्य कर्मचारी संघ चिकित्सा स्वास्थ्य सेवाएं उत्तराखंड के आह्वान पर    गुरूवार को  प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों ने बिना अन्न ग्रहण किये अपनी ड्यूटी की उसके साथ ही अपना विरोध प्रदर्शन किया ।

प्रदेश महामंत्री दिनेश लखेड़ा ने कहा कि चतुर्थ श्रेणी कर्मी उसी पद से सेवानिवत्त हो जाता है उसे कोई पदोन्नति भी नसीब होती है संघ द्वारा मांग की गई कि जैसे पशुपालन विभाग में चतुर्थ श्रेणी कर्मियों की पदोन्नति जो कर्मी हाई स्कूल और इंटरमीडिएट है वेक्सीनेटर में कर दी जाये, जोखिम भत्ता, एक माह का मानदेय दिया जाए ।

जिला उपाध्यक्ष ममताजिला मंत्री राकेष भवर ने कहा कि चतुर्थ श्रेणी कर्मी अग्रिम पंक्ति में ड्यूटी करने के बाद भी कर्मचारियों की पदोन्नति नही है तो स्टर्फ़िंग पेटर्न पर4200 ग्रैड पे और आयुर्वेद विश्वविद्यालय के ऋषिकुल और गुरुकुल के कर्मियों का डी डी ओ कोड बहाल होना चाहिए ये आन्दोलन जब तक चलेगा जब तक वार्ता कर मांगो का समाधान नहीं होता।

ड्यूटी पर रहकर विरोध करने वालों में शिवनारायण सिंह छत्रपाल, राकेश भंवर, राजेन्द्र तेश्वर, ममता, दीपक, सुरेश, महेश कुमार, दिनेश नोटियाल, अरुण कुमार, मुकेश, धर्मसिंह, अजय रानी, रजनी ममता, सुदेश अनिता उपस्थित थे।