किसान आंदोलन : ट्रैक्टर रैली के दौरान गणतंत्र दिवस पर उत्पात्त, एक्शन में दिल्ली पुलिस, हिरासत में लिये 200 लोग

नई दिल्ली, गणतंत्र दिवस पर दिल्ली के लाल किले में हुए उत्पात के मामले में उपद्रवियों पर दिल्ली पुलिस ने सख्त एक्शन लेना शुरू कर दिया है। इस मामले में 200 लोगों को हिरासत में लिया गया है। जांच पूरी कर जल्द इनकी गिरफ्तारी डाली जाएगी।

26 जनवरी को गणतंत्र दिवस पर किसानों की ट्रैक्टर रैली में हुए बवाल के बाद आज दिल्ली पुलिस ने दस धाराओ में केस दर्ज किया है। इनमें डकैती की धाराएं भी हैं। दिल्ली पुलिस ने IPC Sec 395 (डकैती), 397 (डकैती, या डकैती, मौत या शिकायत पर चोट पहुंचाने की कोशिश), 120 b (आपराधिक साजिश की सजा) और अन्य धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज की। पुलिस ने मामले में 22 एफआईआर दर्ज की हैं। बताया जा रहा है कि इस हिंसा में कई नेता भी घेरे में, इन पर भी जल्द ही कार्रवाई की जा सकती है। उपद्रव के दौरान 300 पुलिस कर्मी घायल हुए थे। इनमें से कई की हालत गंभीर है।

उधर, कुछ मीडिया रिपोटर्स में दावा किया जा रहा है कि दिल्ली में 26 जनवरी को किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान लाल किले पर जिस शख्स ने झंडा फहराया था वह तरनतारन के वान तारा सिंह गांव का जुगराज सिंह है। हालांकि इसकी पुष्टि नहीं हुई है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस वीडियो के मुताबिक, एक युवा कह रहा है कि वान तारा सिंह गांव के जुगराज सिंह ने लाल किले पर झंडा फहराया है।सोशल मीडिया पर वायरल इस वीडियो में झंडा फहराने वाले शख्स की पहचान को लेकर उसके रिश्तेदार ही दावा कर रहे हैं।