डॉ,बाबा साहब भीम राव अम्बेडकर जी की 128वी वर्ष गांठ पर अम्बेडकर की चित्र पर पुष्प अर्पित करते उत्तराखंड बाल्मीकि अम्बेडकर महासभा के पदाधिकारी

22

देहरादून(दीपक सैलवान)। संविधान  निर्माता, भारत रत्न बाबा साहेब डॉ० भीमराव अम्बेडकर ने जहाँ छुआछूत, जातीय उत्पीड़न और वर्ण व्यवस्था को जड़ से समाप्त करन के लिए सारी उम्र काम किया वहीं आज आवश्यकता उनके विचारों को आगे बढ़ाने की है। समाज के सबसे कमजोर तबके को जीने का अधिकार दिलाने में बाबा साहेब के संघर्ष का ही बड़ा योगदान है।

आज हमें संकल्प लेना होगा कि उनके बताए मार्ग पर चलकर अपनी आने वाली पीढ़ी को शिक्षित, संगठित करने के लिए जागरूक किया जाए। यह बात आज यहाँ इन्द्रेश नगर स्थित वाल्मीकि सामुदायिक भवन में बाबा साहेब डॉ भीम राव अंबेडकर की 128 वीं जयंती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में बोलते हुए वक्ताओं ने कही। इस कार्यक्रम का आयोजन उत्तराखंड वाल्मीकि अंबेडकर महासभा के तत्वावधान में किया गया था।

कार्यक्रम में बाबा साहेब के चित्र का अनावरण समाज के प्रबुद्ध लोगों के द्वारा किया गया। तत्पश्चात उपस्थित लोगों ने बाबा साहेब के चित्र पर पुष्पांजलि की। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता एवं ओएनजीसी सेवानिवृत्त श्री गोपाल दास वाल्मीकि ने कहा कि बाबा साहेब डॉ अंबेडकर ने समाज के सबसे कमजोर तबके के उत्थान के लिए हमेशा संघर्ष किया, आज अनुसूचित जाति समाज विभिन्न विभागों,संस्थाओं, सामाजिक और राजनीतिक क्षेत्र में यदि आगे बढ़ सका है तो यह सिर्फ बाबा साहेब के संघर्ष की बदौलत ही संभव हो सका है। आज उनकी जयंती पर सभी को यह संकल्प लेना होगा कि वो बाबा साहेब के सिद्धांतों पर चलकर समाज को शिक्षित, संगठित और जागरूक करने का काम करेंगे।

राज्य सफाई कर्मचारी आयोग के सदस्य साकेत वाल्मीकि ने कहा कि बाबा साहेब डॉ अंबेडकर ने संविधान में सभी को समानता का अधिकार दिलाने का काम किया है। वहीं कईं भ्रांतियाँ जो वाल्मीकि समाज में बाबा साहेब के बारे में थी वो दूर हो चुकी हैं। आज वाल्मीकि समाज भी अपने अधिकारों के प्रति जागरूक हो रहा है। वहीं उन्होंने यह आह्वान किया कि हमें अपने बच्चों को शिक्षित कर डाक्टर, इंजीनियर, वकील बनाने के बारे में सोचना चाहिए तभी समाज की तरक्की संंभव है।

इस अवसर पर महासभा की ओर से समाज के वरिष्ठ लोगों को सम्मानित भी किया गया। कार्यक्रम का संचालन महासभा के प्रदेश अध्यक्ष आशीष कुमार छाछर ने किया। इस अवसर पर अशोक तेश्वर, छोटे लाल, बाबू राम, मुकेश तेश्वर, सतपाल, संगठन के वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष सुभाष खैरवाल, श्याम कुमार, गोविंदा, दीपक खैरवाल,राकेश चंचल, अरविंद घावरी, विनोद कुमार, सुदेश कुमार, गुड्डी देवी, पूनम वाल्मीकि, अनिता देवी, शांति देवी आदि उपस्थित रहे।