योगा के सत्र के साथ वालनट्स का सेवन करें, शरीर और मन को सेहतमंद रखने का स्मार्ट विकल्प

25

योग पूरी दुनिया में लोकप्रिय हो रहा है, क्योंकि यह सेहत अच्छी रखने का माध्यम है। यह भारत की प्राचीन परंपरा की सौगात है। यह व्यायाम का एक प्रकार है, जिसमें शरीरिक क्रियाओं और अध्यात्मिक अभ्यासों का समागम होता है। यह व्यक्ति को संपूर्ण शरीरिक और मानसिक सेहत प्रदान करने का सबसे प्रभावशली तरीका है। जो लोग नियमित तौर पर योग का अभ्यास करते हैं, वो जानते हैं कि सही आसन में शरीर को संतुलित रखने में कितनी शक्ति की आवष्यकता होती है। इसलिए जरूरी है कि आपके शरीर को सही पोशण मिले, जो वालनट जैसे आहार में भरपूर होता है। इस आहार के साथ आप योग का पूरा फायदा लेने में समर्थ बनते हैं।

पांचवां अंतर्राश्ट्रीय योग दिवस नजदीक आ गया है। इस मौके पर मशहूर न्यूट्रिशनिस्ट, योगा कंसल्टैंट एवं फ्रीडम वैलनेस मैनेजमेंट की संस्थापिका नाजनीन हुसैन कुछ आसान परामर्ष दे रही हैं, ताकि आपका भविष्य सेहतमंद और बेहतर बने।

योगा एवं सही आहार

उचित आहार शरीर एवं मन को स्वस्थ रखने के लिए जरूरी है, ताकि दीर्घकालिक बीमारियों का जोखिम कम रहे। योगा का पूरा लाभ उठाने के लिए यह भी आवष्यक है कि सेहतमंद आहार लिया जाए। सेहतमंद आहार न केवल आपकी पोशण की जरूरतों को पूरा करता है, बल्कि इससे ज्यादा ऊर्जा भी मिलती है और आप अपने दैनिक कार्यों पर केंद्रित हो पाते हैं।

योगा के सत्र के साथ वालनट्स का सेवन करें

अच्छी सेहत के लिए अपने आहार में वालनट्स शमिल करना जरूरी पोशण प्राप्त करने का सरल और आसान तरीका है। वालनट्स से भरपूर आहार खासकर शकाहारियों को पर्याप्त प्रोटीन देता है। 28 ग्राम वालनट्स में चार ग्राम प्रोटीन और दो ग्राम फाईबर होता है। यह मैग्नीषियम और फास्फोरस का अच्छा स्रोत है। ये दोनों खनिज शरीर की प्रक्रियाओं में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और सेहत बनाए रखने के लिए बहुत आवष्यक हैं। वालनट्स में एल्फा-लाइनोलेनिक एसिड (एएलए) पाया जाता है, जो एकप्लांट-बेस्ड ओमेगा-3 फैटी एसिड है और इसमें प्रति 28 ग्राम 2.5 ग्राम एएलए पाया जाता है, जो किसी भी अन्य नट में पाई जाने वाली मात्रा के मुकाबले कम से कम 8 गुना ज्यादा है।

वालनट्स – शरीर और मन को सेहतमंद रखने का स्मार्ट विकल्प

अनेक षोधों से पता चला है कि वालनट्स दिल का स्वास्थ्य बनाए रखने, डायबिटीज़ और वजन के नियंत्रण सहित अनेक तरह से सेहत बनाए रखने में काफी उपयोगी साबित होती हैं। वालनट्स युक्त आहार लेने से कैंसर की रोकथाम हो सकती है और ये कोलेस्ट्राल को नियंत्रित कर ब्लड प्रेशर को भी सामान्य बनाने में मदद करती हैं। वालनट में एंटीआक्सीडेंट ज्यादा होने के कारण एजिंग, न्यूरोलाजिकल और कार्सिनोजेनिक बीमारियों से सुरक्षा मिलती है। वालनट खाने से ज्यादा ऊर्जा मिलती है, ध्यान व स्मरण शक्ति बढ़ती है और अवसाद के लक्षण 26 प्रतिशत कम होते हैं।

व्यायाम की दिनचर्या में वालनट्स को शमिल कैसे करें।

प्रि-वर्कआउट आहार के रूप में मुट्ठीभर वालनट्स, होममेड एनर्जी बार और सेहतमंद स्मूदी लें और पूरे सत्र के दौरान खुद को ऊर्जा से भरपूर रखें। अपने आहार और स्नैक्स में वालनट्स शमिल करें और कम सैचुरेटेड फैट एवं कोलेस्ट्राल वाला आहार लें।

सप्ताह में चार से पाँच बार वालनट्स का स्नैक लें। मुट्ठीभर नट (28 ग्राम) आपको काफी संतुश्टि प्रदान करेंगे।

टूटी हुई वालनट्स सलाद, सब्जियों, डिप्स या फिर मिक्स्ड डिश में इस्तेमाल करें।