कांग्रेस और महानगर दून व्यापार प्रकोष्ठ ने राजीव गांधी कांप्लेक्स में दिया सांकेतिक धरना, उठाई बाजार खोलने की मांग

देहरादून, राज्य में बाजार खोलने को लेकर सरकार पर चारों तरफ से दबाव बनाया जा रहा है और व्यापारियों की ओर से भी बाजार खोलने की मांग जोर पकड़ती जा रही है। महानगर दून व्यापार प्रकोष्ठ ने डिस्पेंसरी रोड स्थित राजी गांधी कांप्लेक्स में दिन के 11 बजे से दो घंटे सांकेतिक धरना दिया। महानगर कांग्रेस ने भी व्यापारियों का समर्थन किया और धरने में शामिल हुए।

धरने के बाद महानगर कांग्रेस अध्यक्ष लालचंद शर्मा ने कहा कि कोरोना के चलते छोटी दुकानें, होटल, रिटेलर, ढाबे व अन्य व्यवसाय पूरी तरह बंद हैं। जिससे व्यापारियों को काफी नुकसान झेलना पड़ा रहा है। उनके सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है। ऐसे में अब बाजार ना खोलना व्यापारियों, व्यावसायिक प्रतिष्ठानों के हित में नहीं है। उन्होंने कहा कि कोरोनाकाल में तमाम लोग आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं। छोटे व्यापारी रोजाना सुबह से लेकर रात तक मेहनत करके परिवार के लिए रोजी-रोटी का इंतजाम करते थे, लेकिन मौजूदा समय में सबकुछ चौपट हो गया है।

यही नहीं, आइसक्रीम से लेकर सड़कों पर चाय की ठेली लगाकर अपने रोजगार करने वाले घर पर कैद हैं। पूर्व विधायक राजकुमार ने कहा कि अब कोरोना संक्रमण कम हो रहा है, ऐसे में छोटे व्यापारियों को कोविड कफ्र्यू में काम करने के लिए सीमित समय दिया जाए। ताकि वह अपने परिवार का पालन-पोषण ठीक से कर सकें। दून व्यापार प्रकोष्ठ के अध्यक्ष सुनील कुमार बांगा ने कहा कि कोरोना संक्रमण अभी आगे भी जारी रहेगा।

ऐसे में छोटे व्यापारियों के लिए आगे भी दिक्कत रहेगी। इसलिए सरकार को इस समय इन छोटे व्यापारियों की बदहाल आर्थिक स्थिति को देखते हुए उचित कदम उठाने चाहिए। इस मौके पर संजीव कुमार, अर्जुन सोनकर, शेखर कपूर, राम कपूर, अजीत ङ्क्षसह, प्रवीन अरोड़ा, प्रवीन बांगा, विकास नेगी, भूपेंद्र, कपिल नैथानी, विनय कुकरेजा, योगेश भटनागर, शशि पंकज आदि मौजूद थे।