चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों ने आवास आवंटन को लेकर दी आन्दोलन की चेतावनी

हरिद्वार 8 जून( कुलभूषण)   चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी संघ चिकित्सा स्वास्थ्य सेवाएँ उत्तराखंड द्वारा महिला चिकित्सालय के कर्मचारियों के आवास तोड़े जाने को लेकर अब तक भी कर्मचारियों को आवास आवंटित नही किये गए हैं जबकि आवास तोड़ कर कर्मचारियों को बाहर कर दिया  गया है वहीं दूसरी और चिकित्सको के आवास नही तोड़े गए इस तरह कर्मचारियों के साथ सौतेला व्यवहार किये जाने को लेकर कर्मचारियों में आक्रोश है संघ द्वारा    इस बारे में   मुख्य चिकित्सा अधिकारी  महानिदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य जिलाधिकारी हरिद्वार को प्रेषित कर दी गई है।

प्रदेश अध्यक्ष दिनेश लखेड़ा ने कहा कि कर्मचारियों को आवास तोड़े जाने के नोटिस मिलने पर कर्मचारियों और संघ ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी हरिद्वार से अनुरोध किया था कि इन कर्मचारियों को मेला चिकित्सालय परिसर में जो कर्मचारी स्थानांतरित और सेवानिवृत्त हो गए हैं उनसे रिक्त कराकर आवंटन कर दिया जाए किन्तु आवास टूटने के बाद भी कर्मचारी आवास के प्रार्थना पत्र को लेकर घूम रहे हैं किंतु उनकी कोई सुन नही रहा है कार्यालय प्रशासन द्वारा छूट दे दी गई है कि कोई कर्मचारी अगर अपने पर्सनल आवास पर चला जाता है तो भी वह अपना राजकीय आवास यहाँ संविदा कर्मी को किराए पर दे सकता है इसकी शिकायत की गई तो जांच के नाम पर गोलमाल कर मामले को दबा दिया गया है जो कि बर्दाश्त नहीं किया जाएगा

जिलाध्यक्ष शिवनारायण सिंह जिला मंत्री राकेश भँवर ने कहा कि संघ की मुख्य चिकित्सा अधिकारी से कई मांगो को लेकर वार्ता की गई है जिसमे वर्दी ए सी पी का लाभए चिकित्सा प्रतिपूर्ति कर्मचारियों को आवास आवंटन वेतन विसंगति यात्रा भत्ताए आदि मांगो पर वार्ता हो चुकी है पर कोई हल नहीं निकला स्थायी कर्मचारी को आवास आवंटन किया जाना चाहिए जबकि संविदा कर्मियों को बिना आवंटनए कटौती के शासनादेश के बिना आवास दिए जा रहे हैं   यदि जल्द ही इस समस्या का समाधान नही किया गया तो  लोक डाउन के तुरंत बाद मुख्य चिकित्सा अधिकारी का घेराव किया जाएगा और आंदोलन की घोषणा कर दी जाएगी जिसकी जिम्मेदारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय की होगी