स्तन कैंसर का जल्दी पता लगाने में मदद करेगा “कैनएप” मुख्यमंत्री ने किया शुभारम्भ

देहरादून , कैन प्रोटेक्ट फाउंडेशन द्वारा निर्मित स्तन कैंसर रोकथाम एप “कैनएप” का आज सुबह दिनांक २५ अक्टूबर २०२० को मुख्यमंत्री उत्तराखंड त्रिवेन्द्र सिंह रावत द्वारा शुभारम्भ शिक्षा मंत्री अरविन्द पाण्डेय, विनय गोयल, डॉ सुमिता प्रभाकर की उपस्थिति में किया।

मुख्यमंत्री ने कहा की कैंसर रोकथाम के लिए कैन प्रोटेक्ट फाउंडेशन बहुत अच्छा कार्य कर रहा हैं और पिछले कई वर्षो से इस पुनीत कार्य में लगा हुआ हैं। डॉ सुमिता प्रभाकर की अध्यक्षता में संस्था द्वारा महिला स्वास्थय एवं कैंसर रोकथाम के कई कैंपेन चलाये जा रहे हैं जो कि सराहनीय हैं।

इस अवसर पर संस्था की अध्यक्षता डॉ सुमिता प्रभाकर ने बताया कि कैनएप एक निःशुल्क एंड्राइड एप हैं और गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध हैं। कैनएप एक सम्पूर्ण महिला स्वास्थ्य के लिए बनायीं गयी हैं। यह एप ४ भाषाओँ, हिंदी, गढ़वाली, अंग्रेजी एवं अवधि में उपलब्ध हैं। गढ़वाली भाषा में निर्मित यह पहली मेडिकल एप है । इसके द्वारा महिलाएं स्तन कैंसर रोकथाम के लिए घर पर ही परिक्षण करना सीख सकती हैं और यदि कोई असमान्य लक्षण परिक्षण के दौरान मिलता है तो उसका रिकॉर्ड भी रखा जा सकता हैं। रिकॉर्ड डॉक्टर को सही उपचार प्लान करने में मदद करता हैं।

स्तन कैंसर से होने वाली मृत्यु का एक कारण कैंसर का देर से पता चलना हैं। जब तक महिलाओं को असमान्य लक्षणों का आभास होता हैं तब तक यह तीसरी स्टेज में पहुँच चूका होता हैं जिससे सफल इलाज की सम्भावना बहुत कम हो जाती हैं। कैनएप स्तन कैंसर को जल्दी पता लगाने में मदद करता हैं इसलिए सभी महिलाओं को इस एप का प्रयोग करना चाहिए।

भारत में स्तन कैंसर बढ़ रहा हैं और प्रतिदिन कई महिलाओं की मृत्यु स्तन कैंसर के कारण हो जाती हैं । कई रिपोर्ट्स में कहा गया हैं कि भारत में लगभग 28 में से 1 महिला को अपने जीवनकाल में स्तन कैंसर होने की आशंका होती है। 2030 तक, भारत में महिलाओं में स्तन कैंसर किसी भी अन्य बीमारी की तुलना में सबसे अधिक मौतों का कारण बनेगा।

कैनएप के शुभारम्भ के समय मधुकांत कौशिक, ललित आनंद, परम दत्ता, प्रवीण डंग एवं समीर दत्ता उपस्थित रहे।