भोले महाराज को बधाई देने वालों का तांता लगा

देहरादून। आध्यात्मिक गुरु एवं हंस सांस्कृतिक केंद्र व हंस फाउंडेशन के प्रणेता भोले जी महाराज जन्मोउत्सव रविवार को राजधानी में हर्षोउल्लास से मनाया गया। भोले महाराज के जन्मोउत्सव के कार्यक्रमो की कड़ी में दून के नंदा की चौकी के समीप होटल रेजेन्टा में भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस सहभोज कार्यक्रम में माताश्री मंगलाजी भी मौजूद रहीं। इस दौरान दिन भर भोले महाराज को बधाई और शुभकामनाएं देने के लिए लोगों का तांता लगा रहा। आम से लेकर खास, हर स्तर के लोग बड़ी संख्या में पहुंचे। राजनीतिक दलों के आला नेता, कार्यकर्ता, सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि, प्रदेश के आला नौकरशाह भी अच्छी खासी संख्या में भोले महाराज को बधाई देने पहुंचे। बधाई व शुभकामनाएं देने वालों में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और उनकी धर्मपत्नी सुनीता रावत, प्रदेश के मंत्री प्रकाश पंत, हरक सिंह रावत, धन सिंह रावत, पूर्व सीएम हरीश रावत, बीजेपी प्रदेश अध्य्क्ष अजय भट्ट, उत्तराखंड के कई अन्य मंत्री, सांसद, विधायक, पूर्व मंत्री, सांसद व विधायक, हिमाचल प्रदेश के कैबिनेट मंत्री प्रमुख रहे। कार्यकर्म के मौके पर भोले जी महाराज और माताश्री मंगलाजी की ओर से जरूरतमंदों के लिए एम्बुलेंस,ई रिक्शे, वाटर आरओ, स्पोर्ट्स किट, व्हील चेयर आदि सामान भी विभिन्न संस्थायों को वितरित किया गया।
मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने  भोलेजी महाराज के जन्मोत्सव के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र ने हंस फाउंडेशन द्वारा समाज कार्यो के लिए प्रदान की गई एम्बुलेन्स बस व ई-रिक्शा को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। श्री भोले जी महाराज को जन्मदिवस की बधाई व शुभकामनाएं देते हुए मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र ने कहा कि हंस फाउंडेशन ने आज देश के सबसे बड़े ट्रस्ट व दाता के रूप में अपनी पहचान बनाई है। स्वास्थ्य, शिक्षा, संस्कृति सहित सभी क्षेत्रों में हंस फाउंडेशन का महत्वपूर्ण योगदान है।
फाउंडेशन के प्रयास प्रत्येक रूप में सराहनीय है। उनके द्वारा असीम सेवाएं राज्य व राज्य से बाहर दी जा रही है। फाउंडेशन 27 प्रकार की सेवाएं दे रहा है। माता मंगला देवी जी द्वारा  गरीब व वंचित वर्ग की सहायता हेतु विभिन्न सेवा कार्य किए जा रहे है। इन प्रयासों को निश्चित रूप से सराहा जाना चाहिए।  इस अवसर पर हंस संस्थाओं के पदाधिकारी चंदन भंडारी, नीरज शर्मा, पदमेंद्र बिष्ट, सत्यपाल नेगी, प्रदीप राणा, देबू भाई, दिनेश कंडारी आदि भी मौजूद रहे।