प्रयागराज: MP रीता बहुगुणा जोशी की छह वर्षीय पोती का निधन, पटाखे से झुलसने से थीं गंभीर

प्रयागराज, जेएनएन। इलाहाबाद की सांसद प्रो. रीता बहुगुणा जोशी की पोती (पौत्री) छह साल की किया जोशी  काल के क्रूर पंजों से नहीं बच सकी। सोमवार शाम ननिहाल में बच्चों के साथ खेलने के दौरान 60 फीसद झुलसी बच्ची ने सोमवार रात करीब दो बजे उपचार के दौरान अस्पताल में अंतिम सांस ली। मंगलवार शाम दारागंज स्थित विद्युत शवदाह गृह में अंत्येष्टि कर संगम में अस्थियां विसर्जित की गईं। इससे पहले उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल नंदी समेत तमाम नेताओं, प्रबुद्धजनों व समर्थकों ने सांसद के मिंटो रोड स्थित निवास पर पहुंच कर शोक संतप्त परिवार को ढांढस बंधाया।

सांसद जोशी के पुत्र मयंक जोशी सपरिवार लखनऊ में रहते हैं। दीपावली पर उनकी पत्नी ऋचा जोशी बेटी किया के साथ प्रयागराज आईं थीं। किया लखनऊ स्थित लॉ-मार्टिनयर स्कूल में पहली कक्षा की छात्रा थी।  मिंटों रोड स्थित निवास पर दीपोत्सव के बाद भैया दूज मनाने रविवार को ऋचा बेटी के साथ पुनप्पा रोड स्थित मायके चली गई थीं। वहां सोमवार शाम घर बच्चे छत पर दीयाली खेल रहे थे। इसी दौरान किया ने माचिस की तीली जलाई। चिंगारी उसके कपड़े पड़ी और आग भभक उठी। बाबा पीसी जोशी के मुताबिक सभी बच्चे सजावटी समान लेकर बैठे थे। लपटों को देखकर बच्चों ने शोर मचाया तो मामा अंकुर वैश्य पहुंचे और बच्ची को लेकर अस्तपाल भागे। उसे आइसीयू में भर्ती किया गया।

आधी रात थम गई मासूम की सांस

हालत गंभीर देख तय हुआ कि मंगलवार सुबह एयर एंबुलेंस से दिल्ली ले जाकर सेना के अस्पताल में भर्ती कराया जाएगा, लेकिन आधी रात किया जिंदगी की जंग हार गई। सोमवार को सांसद प्रतिनिधि अभिषेक शुक्ला ने बताया था कि किया पटाखे से झुलसी है, लेकिन मंगलवार को बाबा और मामा ने दीयाली खेलने के दौरान हादसे की बात कही। रीता बहुगुणा जोशी प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री भी थीं। सांसद रीता बहुगुणा जोशी का परिवार दीपावली की रात को प्रयागराज में था। इस हादसे के बाद सांसद रीता बहुगुणा जोशी के परिवार का बुरा हाल है।