चमोली में महिलाओं पर लाठीचार्ज के खिलाफ, श्यामपुर में कांग्रेस ने फूंका मुख्यमंत्री का पुतला

ऋषिकेश, चमोली के नंदप्रयाग घाट में सड़क के लिए आंदोलन कर रहे आंदोलनकारियों पर किए गए लाठीचार्ज के विरोध में प्रदेश अध्यक्ष के आवाहन पर श्यामपुर में मुख्यमंत्री त्रिवेंद रावत का पुतला दहन किया गया। इस मौके पर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य जयेंद्र रमोला ने कहा कि मातृशक्ति के बलिदान से बने इस प्रदेश में मातृशक्ति की अहम भूमिका रही है, भाजपा सरकार अब महिलाओं पर भी अत्याचार करने से बाज नहीं आ रही।

गैरसैंण में विधानसभा कूच कर रही महिलाओं और अन्य निहत्थे ग्रामीणों पर पुलिस के लाठीचार्ज से बच्चे बूढ़े नवयुवक और कई महिलाएं बुरी तरह घायल हो गई है। पूर्व कबीना मंत्री शूरवीर सिंह सजवाण ने कहा कि जैसी बर्बरता चमोली में देखने को मिली ऐसी ही बर्बरता उत्तराखंड वासियों ने उत्तराखंड आंदोलन के दौरान देखी थी। आंदोलनकारियों की मांगे मानने के बजाय उन पर लाठियां बरसाना दुर्भाग्यपूर्ण और निंदनीय है। जो उत्तराखंड के इतिहास में काले दिन के तौर पर जाना जाएगा, जिलाध्यक्ष गौरव चौधरी ने कहा कि भाजपा सरकार जनता की आवाज को दबाने का काम कर रही है। जिन मातृशक्ति के बलिदानों से यह राज्य बना आज उन्हीं को सड़कों पर लाठी डंडों से पीटा जाता है। यह अपने आप में शर्मनाक है। इस बर्बरतापूर्ण कार्य के लिए मुख्यमंत्री को तत्काल माफी मांगनी चाहिए।

कार्यक्रम में पूर्व ब्लाक प्रमुख डॉ. केएस राणा, जय सिंह रावत, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष बरफ सिंह पोखरियाल, विजय पाल सिंह रावत, महिला कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष अंशुल त्यागी, आशा सिंह चौहान, मनोज गुसाई, गौतम नौटियाल आदि मौजूद रहे।