मुनस्यारी : पंचायत प्रतिनिधियों का दबाव, प्रशासन व पीएमजीएसवाई के अफसरों ने मोटर मार्ग के क्षतिग्रस्त भाग का किया निरीक्षण

मुनस्यारी, । मुनस्यारी से हरकोट तक बने बंद मोटर मार्ग को खोलने के लिए पंचायत प्रतिनिधियों का दबाव काम आया. प्रशासन व पीएमजीएसवाई के अफसरो ने आज मोटर मार्ग के क्षतिग्रस्त भाग का निरीक्षण किया.
15 दिन के भीतर मोटर मार्ग को खोलने पर सहमति बनी. इस पहल के बाद 13 अक्टूबर को धरना प्रदर्शन की घोषणा को स्थगित कर दिया.

दैवीय आपदा से हरकोट मोटर मार्ग छः माह से बंद चल रहा है। जिला पंचायत सदस्य जगत मर्तोलिया ने मोटर मार्ग बंद होने से परेशान जनता की आवाज को बुलंद करते हुए 13 को धरना प्रदर्शन करने की चेतावनी दी थी.
इसके बाद उपजिलाधिकारी अभय प्रताप सिंह ने पीएमजीएसवाई के अफसरो की क्लाश लगायी. आज पीएमजीएसवाई के सहायक अभियंता महेश्वर आर्या, प्रभारी नायब तहसीलदार भुवन लाल वर्मा ने जिपं सदस्य मर्तोलिया के साथ पैदल चलकर मोटर मार्ग की स्थिति को देखा.

उसके बाद पीएमजीएसवाई के सहायक अभियंता आर्या ने लिखकर दिया है कि 15 दिन के भीतर हरकोट से प्रस्तावित दूसरे पुल तक हल्का वाहन के लिए मोटर मार्ग खोल दिया जायेगा.
पुल के अपाटमेंट बनने के बाद इस स्थान पर भी हल्का वाहन के लिए मोटर मार्ग खोल दिया जाएगा. सहायक अभियंता ने बताया कि मोटर मार्ग की स्थिति बेहद खराब है.

चीफ़ इंजीनियर ने इस मोटर मार्ग का भू-गर्भीय सर्वे करने के आदेश भी दिए है ताकि डेंजर जौन में सुरक्षा कार्य भू- वैज्ञानिक की राय के अनुसार किया जा सके. पुल निर्माण के कार्य में तेजी लाने व हर हफ्ते कार्य प्रगति देने के लिए अवर अभियंता को निर्देश दिए.
मर्तोलिया ने बताया कि प्रशासन ने तत्परता से समस्या का समाधान करने की पहल की है, इसके लिए उपजिलाधिकारी को धन्यवाद ज्ञापित करते है. कहा कि जनता को केसै सहूलियत मिले, इस पर हमारा फौकस है. हम बातचीत से ही समस्या का हल चाहते है.
इस मौके पर पूर्व प्रधान खुशाल सिंह जैष्ठा, सरपंच राजू सेमिया, खुशाल, भूप्पी आदि मौजूद थे.