ओएनजीसी सीएसआर प्रभाग की सार्थक पहल : सुरक्षा और पेट्रोलिंग के लिए उत्तराखण्ड़ पुलिस को प्रदान की 17 मोटर साईकिलें

देहरादून, देश की नवरत्न कम्पनी ओएनजीसी द्वारा निगमित सामाजिक दायित्व तहत उत्तराखण्ड़ पुलिस को सुरक्षा और पेट्रोलिंग के लिए 17 मोटर साईकिलें प्रदान की, एक सादे कार्यक्रम में पुलिस लाइन देहरादून में ओएनजीसी की कार्यकारी निदेशक श्रीमती प्रीता पंत द्वारा पुलिस उप महानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून को 17 हौंडा शाइन मोटर साइकिलों की चाबी देकर उक्त वाहनों को पुलिस कार्य हेतु सुपुर्द किया गया। इस अवसर पर पुलिस उपमहानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून द्वारा ओएनजीसी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि विगत काफी समय से देहरादून शहर के विभिन्न थानों में उपलब्ध चीता मोबाइल काफी खराब स्थिति में होने के बावजूद भी उपयोग में लायी जा रही थी, जिससे चीता की कार्य दक्षता पर काफी प्रभाव पड़ रहा था तथा चीता का रिपोर्टिंग टाइम भी प्रभावित हो रहा था। इसके लिये सभी थाना प्रभारियों द्वारा बार-बार अपने थानों की चीता मोटर साइकिलों को बदले जाने की मांग की जा रही थी। चूंकि शासन से नयी मोटर साइकिलों की स्वीकृति में समय लगना स्वाभाविक था, इसके लिये पुलिस की ओर से ओएनजीसी के समक्ष एक अनुरोध पत्र भेजा गया था, जिस पर वर्तमान कार्यकारी निदेशक श्रीमती प्रीता पंत व्यास द्वारा त्वरित संज्ञान लिया गया एवं पुलिस कार्य हेतु 17 मोटर साइकिलों को पुलिस के सुपुर्द किया गया तथा आश्वासन दिया कि पुलिस विभाग को यथाशीघ्र 20 और मोटर साइकिल प्रदान की जायेगी। इस अवसर पर श्रीमती प्रीता पंत द्वारा अपने वक्तव्य में कहा गया कि अकेले पुलिस विभाग ही ऐसा विभाग है जो अपने कार्यों के सम्पादन हेतु दिये गये संसाधनों का जनता की सेवा के लिये भरपूर उपयोग करते हैं, महिलाओं की सुरक्षा के लिए पुलिस महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां उठाती है, उक्त वाहनों को पुलिस को सुपुर्द करने का मुख्य उद्देश्य महिला संबंधी शिकायतों पर त्वरित कार्रवाई करने में पुलिस की सहायता करना है। यह ओएनजोसी की छोटी सी पहल है।
आम जनता की सेवा के लिये ओएनजीसी व पुलिस समर्पित है और हमेशा रहेगी। ओएनजीसी अभी और माध्यमों से भी पुलिस की मदद करेगा। कार्यक्रम के दौरान पुलिस व ओएनजीसी के मध्य 20 कम्प्यूटर मय प्रिंटर के पुलिस साइबर क्राइम/112/महिला हैल्प लाइन के लिये उपलब्ध कराने पर अनुबंध पत्र भी हस्ताक्षरित किया गया, जो जल्द ही ओएनजीसी द्वारा पुलिस विभाग को उपलब्ध कराये जायेंगे। इसके अलावा ओएनजीसी द्वारा पुलिस विभाग को निगमित सामाजिक दायित्व(सीएसआर) के तहत अभी तक निम्नलिखित सहायता प्रदान की गयी है।

01: यातायात व्यवस्था हेतु रोड डिवाइडर
02: पुलिस लाइन मार्डन स्कूल में मरम्मत का कार्य एवं स्कूल बस प्रदान की गयी।
03: महिला हैल्प लाइन भवन की मरम्मत/कार्यालय हेतु कुर्सी/मेज/कम्प्यूटर/फोटो स्टेट मशीन
04: शहर के विभिन्न संवेदनशील जगहों पर सीसीटीवी कैमरे लगाने हेतु 10 लाख रूपये का अनुबंध।

कार्यक्रम के दौरान पुलिस अधीक्षक, नगर, पुलिस अधीक्षक यातायात, समस्त क्षेत्राधिकारी, ओएनजीसी की ओर से ओएनजीसी के कार्यकारी निदेशक के अलावा श्री रामराज द्विवेदी महाप्रबंक एवं इंचार्ज सीएसआर, श्री कमलेश डोभाल महा प्रबंधक(ईएण्डटी), श्री रजनीश त्रिवेदी महा प्रबन्धक (जन सम्पर्क)श्री एल. एम. लखेड़ा अधीक्षण प्रारूपकार सीएसआर, श्री नरेश सूद वरिष्ठ एमएमओ सीएसआर एस0एल0होण्डा की ओर से सुश्री मोनिका (जी0एम0), श्री नितिन (नेटवर्क मैनेजर), श्री जितेन्द्र (सीनियर सेल्स एक्जिक्यूटिव) मौजूद रहे।