16 जुलाई को रात एक बजकर इक्त्तीस मिनट से शुरू होकर चार बजकर बत्तीस मिनट तक रहेगा चन्द्र ग्रहण कालः प्रदीप जोशी

26

हरिद्वार जुलाई 15 (कुल भूषण शर्मा) 16 जुलाई दिन मंगलवार को चन्द्र ग्रहण होने जा रहा है। ग्रहण को लेकर नगर के जाने माने ज्योतिषाचार्य डा0 प्रदीन जोशी ने कहा की 16 जुलाई की रात को एक बजकर बत्तीस मिनट पर यह चन्द्र ग्रहण आरम्भ होगा तथा तीन बजकर एक मिनट पर ग्रहण अपने मध्य में होगा ग्रहण तथा चार बजकर इकत्तीस मिनट पर समाप्त होगा। इस प्रकार कुल दो घण्टें उनसठ मिनट का यह ग्रहण काल रहेगा।

ग्रहण का सूतक काल 16 जुलाई की शाम को चार बजकर बत्तीस मिनट से आरम्भ होकर ग्रहण समाप्ती के समय तक रहेगा। ऐसे में ग्रहण को मानने वाले लोगो को इस ग्रहण काल की समय सीमा में भोजन आदि नही करना चाहिए। तथा ग्रहण की समाप्ती पर दान पुण्य आदि करे। तथा ग्रहण शुरू होने पर दान देने के लिए सामग्री भी निकाल कर रख सकते है।
यह ग्रहण काल धनु राशि में शुरू होकर मकर राशि में समाप्त होगा। धनु राशि में ग्रहण शुरू होने व मकर राशि में समाप्त होने से सभी राशियो के लिए मिलाजुला असर देने वाला होगा। मेष राशि के लिए थोडा कष्टकारी लेकिन सुख देने वाला होगा। वृषभ मिथुन कन्या धनु मकर राशि वालो के लिए ग्रहण नुकसान दायक होगा वही अन्य राशियो को जहा थोडा कष्ट देगा वही सुख भी प्रदान करेगा। मंगलवार कोग्रहण होने के कारण ग्रहण के बाद स्नान दान आदि का विशेष महत्व रहेगा। पुराणों व स्मृतियो के अनुसार ग्रहण काल में मंत्र जाप करने दान देने व विभिन्न देवताओ का पूजन हवन आदि करने से पुण्य फल की प्राप्ती होगी। उत्तरा शाडा नक्षत्र में ग्रहण होने के कारण इस बार प्रयाप्त बारिश होगी व देश में अनाज की वृद्वी होगी। साथ ही चावल तिलहन दलहन घी गुड आदि के मंहगे होने का अनुमान है।

धनु राशि मे ग्रहण प्रवेश होने के चलते राजा मंत्री आदि को परेशानी का सामना करना पड सकता है। मकर राशि में ग्रहण समाप्त होने के चलते कर्मचारीयो चिकित्सको वृद्वो को परेशानी हो सकती है। वैज्ञानिको के अनुसंधान के लिए ग्रहण योग ‘ाुभ होगा। ग्रहण से ‘शांति के लिए उडद की दाल मसूर की दाल तिल कातेल गुड आदि का दान करना हितकारी होगा।