हिमाचल : दुग्ध उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए 100 करोड़ का प्रोजेक्ट तैयार

शिमला. प्रदेश में दुग्ध उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए मिल्कफैड ने 100 करोड़ रुपए का एक प्रोजेक्ट तैयार किया है। मिल्कफैड ने यह प्रोजेक्ट नेशनल डेयरी डेवलमेंट प्रोजेक्ट के तहत तैयार किया है। इसे मंजूरी के लिए शीघ्र केंद्र सरकार को भेजा जाएगा।

इस प्रोजेक्ट के तहत प्रदेश के सभी 10 मिल्क प्रोसेसिंग यूनिट को कंप्यूटराइज्ड किया जाएगा। इससे प्रदेश में ही गुणात्मक दूध का उत्पादन हो सकेगा । इससे मिल्क फैड की पंजाब और हरियाणा पर निर्भरता कम होगी। इस प्रोजेक्ट में गुणात्मक पशुचारा तैयार करने के अलावा किसानों को अच्छी क्वालिटी का उत्पाद तैयार करने का प्रशिक्षित दिया जाएगा।

यह जानकारी मिलक फैड के अध्यक्ष निहाल चंद शर्मा ने शिमला में पत्रकार वार्ता के दौरान दी। उन्होंने कहा कि मिल्कफैड से जुड़े करीब 30 हजार किसानों की आय को दुगुना करने के लिए मिल्क फैड अपने उत्पादों की बिक्री को बढ़ा रहा है। उन्होंने कहा कि मिल्क फैड अपने नए उत्पादों को बाजार में उतार कर आय के साधन बढ़ाएगा।

शर्मा ने बताया कि आने वाले दिनों में हिम मिल्क को बाजार में उतारा जाएगा जो लोगों की दूध की मांग को पूरा करेगा। इस समय 80 हजार लीटर दूध का उत्पादन हो रहा है। इसमें से 20 हजार लीटर दूध की बिक्री ही हो पा रही है। शेष दूध को मिठाई, घी, दही के लिए इस्तेमाल में लाया जा रहा है।