नीति आयोग के उपाध्यक्ष का रघुराम राजन पर सीधा आरोप

नई दिल्ली. नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने पिछले सालों में विकास दर में गिरावट की वजह बताई। उन्होंने सोमवार को कहा कि आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन की नीतियों की वजह से एनपीए बढ़ रहा था और ग्रोथ घट रही थी। नोटबंदी की वजह से ग्रोथ धीमी पड़ने के आरोप को राजीव कुमार ने झूठा बताया। उन्होंने कहा, “मुझे चिंता है कि हमारे पूर्व प्रधानमंत्री और पी चिदंबरम जैसे लोगों ने ये बात कही।”

राजीव कुमार के मुताबिक रघुराम राजन के कार्यकाल में एनपीए बढ़ रहा था। बैंकिंग सेक्टर ने इंडस्ट्री को लोन देना बंद कर दिया। मीडियम और स्मॉल स्केल इंडस्ट्री की क्रेडिट ग्रोथ नेगिटिव में चली गई।

अप्रैल-जून तिमाही में देश की विकास दर 8.2% रही। ये 9 तिमाही में सबसे ज्यादा है। पिछली तिमाही (जनवरी-मार्च) में ये 7.7% रही थी। नवंबर 2016 में नोटबंदी लागू हुई थी। उसके बाद ग्रोथ में लगातार कमी आई। अप्रैल-जून 2017 में ये 5.6% रह गई। विपक्ष ने इसे नोटबंदी का असर बताया।