धुमाकोट बस हादसे के मृतक आश्रितों को मिले 5 लाख मुआवजा

पौड़ी। धुमाकोट में बीती 1 जुलाई को हुए भीषण सड़क हादसे में मारे गए लोगों की आत्मा की शांति के लिए भौन में शोक सभा का आयोजन किया गया। शोक सभा के बाद क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों व ग्रामीणों ने सीएम को समस्याओं का ज्ञापन भी भेजा। रविवार को भौन में आयोजित शोक सभा में दुर्घटना में मारे गए लोगों की आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन रखा गया। इस दौरान शोक सभा में मौजूद विधायक लैंसडौन दिलीप रावत के साथ ही सीएम को भी ज्ञापन भेजा गया। ज्ञापन में दुर्घटना में मारे गए प्रत्येक मृतक आश्रित को 5 लाख और घायलों को 2 लाख का मुआवजा देने, मृतक आश्रितों को 18 साल तक सरकार द्वारा भरण-पोषण और शिक्षा देने, वयस्क मृतक आश्रित को नौकरी देने, धुमाकोट तहसील में एसडीएम और तहसीलदार की नियमित तैनाती करने, ओवरलोडिंग को रोकने के लिए देहरादून-भौन-बमेड़ीसैंण रोडबेज बस सेवा का संचालन करने, भौन क्षेत्र में स्थित राष्ट्रीयकृत बैंक व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में कर्मचारियों की नियमित तैनाती करने, मोटरमार्गो की मरम्मत, सुरक्षा दीवार, बसों की फिटनेस, ओवरलोडिंग की नियमित जांच करने, एडीबी द्वारा खाल्यूंडांडा-भौन-अंदरोली मोटरमार्ग पर कराएं जा रहे डामरीकरण की जांच करने और गुणवत्ता के साथ काम करने की मांग की गई है। इस मौके पर ब्लाक प्रमुख नैनीडांडा रश्मि पटवाल, आप के ब्लाक संयोजक ब्रजपाल, रविंद्र प्रसाद, विमला देवी, किरन, शिशुपाल सिंह रावत आदि मौजूद रहे।